यूनिवर्सिटी के छात्रों की आज फिर गुंडागर्दी, कैंटीन मे लगायी आग

  • आपसी संषर्घ के दौरान चोटिल हुए एक छात्र गुट ने कैंटीन में लगाई आग
  • पुलिस का कहना है कि शार्ट सर्किट से लगी थी आग

27 MAY PAGE-114पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। जानकीपुरम के न्यू कैंपस में दो छात्र गुटों में हुए संघर्ष के बाद नाराज एक गुट ने शुक्रवार तडक़े कैंटीन को आग के हवाले कर दिया। हैरानी की बात यह है कि इस दौरान कैंपस में भारी पुलिस बल के साथ पीएससी भी तैनात थी। उधर पुलिस का कहना है आग शार्ट-सर्किट की वजह से लगी है। इसमें किसी छात्र गुट का कोई हाथ नहीं है। सूचना पर दो फायर बिग्रेड की गाडिय़ों के साथ पहुंची टीम ने आधे घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया।
सीओ अलीगंज ने बताया कि शुक्रवार सुबह तडक़े पीएससी के जवान ने देखा कि कैंटीन से आग की लपटें उठ रही हैं। इस पर उन्होंने थाना जानकीपुरम के साथ अग्निशमन विभाग को इसकी जानकारी दी। मौके पर पहुंचकर बीकेटी फायर स्टेशन की दो गाडिय़ों के साथ दमकल कर्मियों ने आधे घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। आगजनी से कैंटीन में रखी फोटो स्टेट मशीन, फ्रीज समेत अन्य समान जलकर राख हो गया। सूत्रों के अनुसार दो छात्र गुटों में जमकर हुए संघर्ष के दौरान एक छात्र गुट के सदस्यों को ज्यादा चोटें आयीं थी। इससे उनमें काफी रोष था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों गुटों को लाठी फटकार हास्टल में कैद कर दिया था। साथ में कैंपस के परिसर में भारी पुलिस फोर्स के साथ पीएससी तैनात कर दी गई थी। सूत्रों की मानें तो सुबह तडक़े मारपीट के दौरान ज्यादा चोटिल हुए एक छात्र गुट ने कैंटीन को आग के हवाले कर दिया। हालांकि पुलिस इस बात से इंकार कर रही है। पुलिस का कहना है कि आग शार्ट-सर्किट की वजह से लगी थी।ï

मामले की जानकारी मिलने पर हम सब मौके पर गए, कुछ लॉ के बच्चों का नाम आया है तो कुछ मैनेजमेंट के छात्रों का नाम सामने आ रहा है। लेकिन आग कैसे लगी इसके बारे में जानकारी जांच के बाद ही मिलेगी। जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसको बख्शा नहीं जाएगा।
निशि पांडेय, चीफ प्रॉक्टर

कल छात्रों में आपसी कहासुनी के बाद झगड़े की बात सामने आयी थी। इसके बाद वहां पर फोर्स तैनात कर दी गई थी। छात्रों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए उन पर कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की गई थी। अगर उन्होंने सुबह कैंटीन में आग लगायी है, तो इसकी जांच करायी जाएगी। साथ में उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इस बिन्दु की जांच करायी जाएगी कि पुलिस की मौजूदगी में छात्रों ने कैसे आग लगायी।
आरकेएस राठौर, डीआईजी

Pin It