मोदी के जातिवादी षड्यंत्र के झांसे में न आएं लोग: मायावती

  • बसपा ने मुस्लिमों को दी सुरक्षा, स्मारकों को लेकर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर बोला हमला
  • कहा, जिसे फिजूलखर्ची बता रहे वहां से सपा सरकार को मिल रहा राजस्व
  • समाज को बांटने का काम कर रही है भाजपा और कांग्रेस
  • पिछड़ों और दलितों में फर्क कर रहा है विपक्ष, बाबा साहेब ने दिलाई पहचान

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
11लखनऊ। बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर के परिनिर्वाण दिवस पर अंबेडकर पार्क में आयोजित जनसभा में बसपा सुप्रीमो मायावती ने विपक्षी दलों पर जमकर निशाना साधा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाने पर लेते हुए बसपा प्रमुख मायावती ने कहा कि मोदी उच्च जाति के हैं। लोग प्रधानमंत्री के जातिवादी षडयंत्र के झांसे में न आएं। वोटों के खातिर पीएम ने चोला बदला है। उन्होंने कहा कि विपक्षी दल पिछड़ों और दलितों में फर्क कर रहे हैं। कांग्रेस और भाजपा ने समाज को बांटने का काम किया है। वे बाबा साहेब को लेकर लोगों में भ्रम फैला रहे हैं।
अंग्रेजों के जमाने में बाबा साहेब ने सबको पहचान दिलाई। भाजपा बाबा साहेब के नाम का इस्तेमाल कर रही है। केंद्र और राज्य सरकार को संविधान के तहत सभी को अधिकार देना चाहिए। उन्होंने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि सपा मुखिया और बबुआ के परिवार की तरक्की बाबा साहब की देन है। बबुआ स्मारक में लगी मूर्तियों पर अभद्र बयान देते हैं। सपा के षडय़ंत्र के कारण 9 अक्टूबर की रैली में हादसा हुआ था। हर जिले में विधानसभा स्तर पर कार्यक्रम हो रहे हैं। मायावती ने कहा कि स्मारक स्थल पर लगे पत्थरों को बबुआ पैसे की बर्बादी बताते हैं जबकि यहां के टिकट से सपा को भारी राजस्व मिल रहा है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि सपा अपने परिवार के मनोरंजन के लिए सैफई में महोत्सव मनाती है। बबुआ के बयानों से पार्टी को फायदा मिल रहा है। सरकार जिसे फिजूलखर्ची बता रही है वहां हजारों लोग रोज घूमने आते हैं। उन्होंने कहा कि बसपा ने मुस्लिमों को सुरक्षा दी। उन्होंने कहा कि संघर्ष के बाद बाबा साहेब ने खुद को काबिल बनाया। बीजेपी, आरएसएस को बाबा साहब का संविधान पसंद नहीं आया। लोगों को बीजेपी और आरएसएस से सावधान रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के लिए सभी को एकत्रित करना होगा। बसपा के शासनकाल में लोगों को अधिकार मिले। आजादी के बाद लंबे अरसे तक कांग्रेस सत्ता में रही। भाजपा की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी की नीति और नियत हमेशा विरोधी रही है। कांग्रेस ने बाबा साहेब को भारत रत्न से नहीं नवाजा। मंडल कमीशन की रिपोर्ट को लेकर बीजेपी ने विरोध जताया था। रिपोर्ट के खिलाफ भाजपा ने देश भर में विरोध प्रदर्शन किया था।

जमा करने से सफेद नहीं हो जाएगा कालाधन: अमित शाह

  • नोटबंदी से जनता को हो रही परेशानियों को स्वीकारा

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि यह भ्रम निकाल दें कि बैंक खाते में पैसा जमा कर देने से कालाधन सफेद नहीं हो जाएगा। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के फैसले से पैसा सिस्टम के अंदर आया है। इन पैसों की जांच की जाएगी। पैसा वैध है या अवैध इसका फैसला सरकार जांच के बाद तय करेगी। इस पर टैक्स लगेगा और जुर्माना भी लगाया जाएगा। उन्होंने माना कि नोटबंदी से लोगों को परेशानी हो रही है। लेकिन इससे उनका भविष्य उज्ज्वल होगा।
एजेंडा आज तक में शाह ने बीजेपी पर जमीन खरीदने के विपक्ष के आरोप के सवाल पर कहा कि 2015 में नोटबंदी तय हो गई थी, यह गलत है। इसके पहले भाजपा कार्यालयों के लिए जमीन खरीदना महज एक संयोग है। यूपी विधानसभा के मसले पर शाह ने कहा कि गेम के रूल सबके लिए एक है। मनमोहन सिंह के बयान पर अमित शाह ने कहा कि मैं उनका बहुत सम्मान करता हूं। वे देश के वित्त मंत्री रहे, नीति आयोग के अध्यक्ष रहे हैं। वे 1975 से 2014 तक देश की अर्थतंत्र का हिस्सा रहे, जब वे सत्ता से हटे तो उस वक्त 60 करोड़ परिवारों के पास एक भी बैंक अकाउंट नहीं था। उन्होंने कहा कि देश को छलांग लगाने की जरूरत है।

जयललिता के अंतिम दर्शन को पहुंचे पीएम, संसद में दी गई श्रद्धांजलि

  • देश में एक दिन के राष्ट्रीय शोक का ऐलान
  • अंतिम संस्कार आज, विभिन्न दलों के नेता भी पहुंचे

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
चेन्नई। जयललिता के अंतिम दर्शन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चेन्नई पहुंच गए हैं। जयललिता के निधन पर एक दिन के राष्टï्रीय शोक का ऐलान किया गया है। उधर एयरफोर्स के प्लेन में तकनीकी खराबी आने के बाद राष्टï्रपति प्रणब मुखर्जी बीच रास्ते से ही दिल्ली लौट आए हैं। हालांकि वे बाद मेंं फिर चेन्नई के लिए रवाना हुए।
वहीं राजाजी हॉल के पास जयललिता के अंतिम दर्शन करने के लिए लोग बेकाबू हो गए जिस पर पुलिस ने हल्का लाठी चार्ज किया । जयललिता को संसद के दोनों सदनों लोकसभा और राज्यसभा में श्रद्धांजलि दी गई। तमिलनाडु में 7 दिन का शोक रहेगा। महाराष्टï्र समेत अन्य राज्यों की विधानसभा में भी जयललिता को श्रद्धांजलि दी गई।

Pin It