मोदी के गढ़ में होगा नौजवानों का बड़ा आंदोलन, करेंगे आरक्षण का विरोध

प्रखर सिंह के नेतृत्व में 13 फरवरी को आरक्षण मुक्त भारत की मांग को लेकर बनारस में इक_ïा होंगे नौजवान
कुछ महीनों पहले राजधानी में भी हुआ था आंदोलन, जुटे थे हजारों युवा

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। आरक्षण मुक्त भारत की मांग को लेकर बनारस में एक बड़े आंदोलन की तैयारी हो चुकी है। हजारों नौजवान 13 फरवरी को इस मांग को लेकर बनारस में इक_ïा होंगे। जहां पर केंद्र सरकार से यह मांग की जायेगी कि आरक्षण को भारत से पूरी तरह से खत्म कर दिया जाये।
गौरतलब है कि इस आंदोलन के अगुवा और आरक्षण मुक्त भारत आंदोलन के अध्यक्ष प्रखर सिंह लगातार अपनी इस मुहिम को मजबूत करने में जुटे हैं। अभी कुछ महीनों पहले ही उन्होंने राजधानी में आरक्षण मुक्त भारत की मांग को लेकर एक विशाल आंदोलन को अंजाम दिया था। जिसमें हजारों की संख्या में नौजवान और छात्र भारत मां के झंडे के तले इक_ïा हुए और केन्द्र सरकार से यह मांग की कि भारत को आरक्षण से मुक्त कर दिया जाये। इस आंदोलन को मोदी के गढ़ बनारस में करना भी प्रखर की एक रणनीति है जिससे कि युवाओं की आवाज देश के मुखिया नरेन्द्र मोदी तक पहुंच सके और वह इस मुद्दे पर कुछ कार्रवाई करें।
इस आंदोलन को लेकर प्रखर सिंह का कहना है कि आरक्षण के साये तले 65 साल बीत गये। जिस शोषित वर्ग के लिये आरक्षण की व्यवस्था की गई थी उसकी हालत आज भी जस की तस है। आरक्षण आज के समय में सिर्फ और सिर्फ वोट बैंक की फसल काटने का हथियार बन गया है। इस आरक्षण रूपी दानव की वजह से ही योग्य उम्मीदवार सडक़ों पर धूमने को मजबूर हैं। अगर इसको जल्द से जल्द खत्म न किया गया तो वह दिन दूर नहीं जब समाज में बेरोजगारी, आर्थिक असमानता और भेद भाव की भावना हावी हो जायेगी। इस लिये हम सभी युवा आरक्षण के खिलाफ एकजुट होकर इसे पूरी तरह से खत्म करने की मांग कर रहे हैं। इसके साथ ही वह युवाओं से यह अपील भी करते हैं कि वे 13 फरवरी को आरक्षण के खिलाफ अधिक से अधिक संख्या में इक_ïा होकर इस आंदोलन को बल दें और इसे गति प्रदान करें।

Pin It