मोदी का बनारस दौरा रद्ïद होने से सियासत तेज

प्रधानमंत्री के बनारस दौरे से विरोध का कोई मुद्ïदा तलाशने में जुटी कांग्रेस तिलमिलाई
समाजवादी पार्टी ने नहीं खोया मौका जताया विरोध

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। पीएम नरेंद्र मोदी को 28 जून को अपने संसदीय क्षेत्र बनारस जाना था लेकिन भारी बारिश की वजह से उनका दौरा रद्ïद हो गया। दौरा रद्ïद होने पर विपक्षी दलों को मानो एक मौका ही मिल गया। भाजपाई कार्यकर्ताओं में इसलिए निराशा है कि मोदी अपने संसदीय क्षेत्र नही आ पाये। वहीं कोंग्रेसियों में इस बात को लेकर निराशा हो गई कि मोदी बनारस आएंगे तो कुछ न कुछ मुद्ïदा मिल जायेगा, लेकिन राजनीतिक दल मोदी का दौरा रद्ïद होने से भी पीएम मोदी पर निशाना साधने में पीछे नहीं रहे।

बनारस की जनता अपने को छला महसूस कर रही है
वहीं कांग्रेस के संगठन मंत्री अशोक सिंह का कहना है की मोदी सरकार अब पुरे तरीके से फ़ैल हो चुकी है और जिस तरह से मोदी सरकार सुषमा और वसुंधरा राजे के मुद्दे पर खामोश दिख रही है उससे यही लगता है की मोदी सरकार लोकतंत्र को ताक पर रख दिया है ! जिस तरह से बनारस दौरा नरेंद्र मोदी ने रद्द किया है उससे बनारस की जनता अपने को छला महसूस कर रही है! और मोदी ने देश की जनता की भी धोखा दिया है! बनारस की जनता ने पुरे दिल से अपने सांसद का इंतज़ार कर रही है थी वहीँ मोदी ने उन लाखो बनारस की जनता का दिल दुखाया है!

सपा का वार, पीएम कार्यालय से कर दिया करें योजनाओं का उद्ïघाटन व शिलान्यास

उत्तर प्रदेश के नगर विकास मंत्री आजम खां ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वाराणसी दौरा रद्ïद होने पर कटाक्ष किया. उन्होंने को कहा कि बेहतर होता कि प्रधानमंत्री जनता की भावनओं का आदर करते हुये बनारस पहुंचते।
आजम ने पीएम को भविष्य में प्रधानमंत्री कार्यालय से ही उद्ïघाटन एवं शिलान्यास करने की सलाह भी दी है। आजम ने एक बयान जारी कर यह बात कही. दो पृष्ठों के अपने बयान में आजम ने कहा कि बारिश के चलते कभी सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव का दौरा रद्द नहीं हुआ।आजम ने कहा कि सभा स्थल पर पानी भरा हो या पानी की बौछार हो रही हो, नेताजी वहां हमेशा ही पहुंचे हैं. जनता कम या अधिक हो सकती है लेकिन ऐसा कभी नही हुआ कि नेताजी कार्यक्रम में न पहुंचे हों। सपा के कद्दावर नेता ने कहा कि प्रधानमंत्री का बनारस दौरा रद्द होना काशी की जनता का सौभाग्य है या दुर्भाग्य यह तो बनारस वहां की जनता को तय करना होगा, लेकिन देश के बादशाह को चाहिए कि भविष्य में वह प्रधानमंत्री कार्यालय से ही योजनाओं का शिलान्यास एवं उद्घाटन करें।बनारस में विकास कार्यों को लेकर आजम ने अपने विभाग एवं मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की जमकर तारीफ की है। आजम ने कहा है कि बनारस में जनसामान्य को राहत पहुंचाने वाले जो भी काम हुये वे या तो मुख्यमंत्री द्वारा शुरू कराए गए या आजम के विभाग की ओर से। अपने बयान में आजम ने केंद्र सरकार से यह भी मांग की है कि आत्महत्या करने वाले किसानों को सरकार केंद्रीय खजाने से 25 लाख रुपए का मुआवजा दें और परिवार के किसी एक व्यक्ति को उसकी योग्यता के अनुसार किस भी विभाग में नौकरी दें।

बीजेपी की सफाई
वहीं भारतीय जनता पार्टी के यूपी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकान्त बाजपेयी ने कहा कि फिलहाल हमारी पूरी तैयारी थी और और भारी बारिश की वजह से प्रधानमंत्री मोदी का दौरा रद्ïद ही गया है। लेकिन अब दोबारा बनारस आने की कोई जानकारी अभी तक नही है।

Pin It