मैकेनिक ने की आत्महत्या

पुलिस पर प्रताडऩा का आरोप

पूछताछ के लिए पुलिस बुलाती थी गोमतीनगर थाना

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। गोमतीनगर इलाके में रहने वाले एक कम्प्यूटर मैकेनिक ने पुलिस प्रताडऩा का आरोप लगाते हुए आत्महत्या कर ली। परिजनों का आरोप है कि मृतक का छोटा बेटा लडक़ी को भगा ले जाने के मामले में जेल गया है। पुलिस इसी मामले की पूछताछ के लिए मैकेनिक को थाने पर बुलाती थी। जिससे वह अवसाद में आ गए थे। वहीं पुलिस का कहना है कि प्रताडऩा का आरोप बेबुनियाद है। पूछताछ के लिए मैकेनिक को थाने पर बुलाया गया था।
गोमतीनगर के खरगापुर गांव निवासी रामकृष्ण मौर्या 45 वर्ष कम्प्यूटर मैकेनिक था। वह पत्नी व दो बेटों अभिषेक मौर्या व विवेक मौर्या के साथ रहते थे। बताया जाता है कि विवेक मौर्या पर बीकेटी से लडक़ी भगाने का मामला दर्ज कर पुलिस पड़ताल कर रही थी, जिसके बाद लडक़ी को बरामद कर लिया गया। पुलिस ने इसके बाद लडक़ी भगाने की धारा 363, 366 में रेप की धारा 376 व पॉक्सो एक्ट की बढ़ोत्तरी करते हुए विवेक को जेल भेज दिया। इस दौरान विवेक के पिता रामकृष्ण को पुलिस ने कई बार थाने पर पूछताछ के लिए बुलाया था। मृतक के बड़े बेटे अभिषेक का कहना है कि उसके भाई के जेल जाने व बार-बार थाने बुलाए जाने से उनके पिता अवसाद में आ गए थे। अभिषेक ने बताया कि रात करीब साढ़े नौ बजे जब वह घर पहुंचा तो कमरे में पिता छत में लगे पंखे में साड़ी का फंदा बनाकर आत्महत्या कर लिये। पुलिस प्रताडऩा के चलते आत्महत्या किए जाने की बात से पुलिस महकमे में हडक़म्प मच गया। जबकि एसओ गोमतीनगर का कहना है कि आरोप गलत है। बता दें कि पूर्व में भी पुलिस की प्रताडऩा से कई लोगों ने आत्महत्या की है। लेकिन मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है। लडक़ी भगाने के चक्कर में इंदिरानगर में भी एक युवक ने आत्महत्या की थी जबकि उसकी शादी भी तय हो चुकी थी।

Pin It