मुलायम के रंग में रंगा सैफई

मुलायम सिंह यादव का जन्मदिन कल
राजधानी में भी जन्मदिन मनाने की तैयारियां तेज
सपा कार्यकर्ताओं में जबरदस्त उत्साह, पार्टी कार्यालय में भी चहल पहल

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
DR1लखनऊ। सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव का कल 77वां जन्मदिन है। उनके जन्मदिन को खास बनाने की तैयारी में सपा कार्यकर्ता से लेकर उनके परिजन जुटे हैं। राजधानी में सपा मुखिया के जन्मदिन की तैयारी चल रही है। हालांकि मुलायम सिंह अपना जन्मदिन अपने गांव सैफई में मनाएंगे। सैफई को दुल्हन की तरह तैयार कर दिया गया है। आज शाम को आस्कर पुरस्कार विजेता संगीतकार ए.आर. रहमान का कन्सर्ट भी आयोजित है। श्री रहमान का यूपी में पहला कार्यक्रम है। सैफई में सियासी हस्तियों का जमावड़ा लगेगा। सपा सुप्रीमो के जन्मदिन के अवसर पर बालीवुड के कलाकार अपना जलवा बिखेरेंगे।
सपा सुप्रीमो के जन्मदिन की तैयारी कई दिनों से जोर-शोर से चल रही है। उनके जन्मदिन की खुशी में कल राजधानी से लेकर प्रदेश के सभी जिलों में अनेक कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं। प्रदेश के आला अधिकारी सैफई से लेकर राजधानी में जन्मदिन के कार्यक्रम का जायजा लेने में जुटे हुए हैं। सपा मुखिया के जन्मदिन के अवसर पर कल मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जनेश्वर मिश्र पार्क में राष्टï्रीय ध्वज फहरायेंगे। यह ध्वज उत्तर प्रदेश में लगने वाले ध्वज से सबसे ऊंचा होगा। 207 फीट की ऊंचाई पर फहरने वाले ध्वज का वजन 38 किलो होगा और इसकी लंबाई 90 फीट और चौड़ाई 60 फीट होगी। इसके अलावा मुख्यमंत्री आवास पर भी मुलायम सिंह यादव पर फोटो प्रदर्शनी लगायी जाएगी। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षक संघ सहित अनेक संगठनों द्वारा काव्य गोष्ठïी, प्रदर्शनी सहित रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं, जिसकी तैयारी जोर-शोर से चल रही है। सपा मुखिया के जन्मदिन को खास बनाने के लिए सपा के दिग्गज नेता सहित कार्यकर्ता भी जुटे हुए है। सपा कार्यालय पर भी खास कार्यक्रम आयोजित है। पूरे देश में सपा कार्यकर्ता अपने मुखिया का जन्मदिन खास बनाने में लगे हुए है। सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव कल अपने जन्मदिन के अवसर पर सैफई में मौजूद रहेंगे।

दुल्हन की तरह सजाया गया सैफई
सपा सुप्रीमो के जन्मदिन की तैयारियां कई दिनों से सैफई में चल रही है। सैफई को दुल्हन की तरह सजाया गया है। प्रदेश के वरिष्ठï अधिकारी सैफई में डटे हुए हैं। वह अपनी निगरानी में सारा काम करा रहे हैं ताकि कोई कमी न रह जाए। कल मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अपने पिता मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन की तैयारियों का जायजा लेने सैफई गए थे।

एआर रहमान देंगे खास प्रस्तुति

मुलायम सिंह के जन्मदिन की पूर्व संध्या आज शाम को ऑस्कर पुरस्कार विजेता ए.आर. रहमान अपनी खास प्रस्तुति देंगे। श्री रहमान का उत्तर प्रदेश में यह पहला कार्यक्रम है। इसके लिए ए.आर. रहमान अपनी टीम के साथ कल ही सैफई पहुंच गए थे। ए.आर. रहमान की अगुवाई खुद मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने की थी। उनके साथ उनके भाई सांसद धर्मेन्द्र यादव भी मौजूद रहे। कल जन्मदिन के मौके पर कई बालीवुड के कलाकार भी अपना जलवा बिखेरेंगे।

बेईमानों को बचाने में जुटे एकेटीयू के वीसी

पिछले तीन दिन से छात्र कर रहे हैं प्रदर्शन, नहीं हुई सुनवाई
मंत्री से लेकर सपा सुप्रीमो मुलायम तक से लगा चुके हैं गुहार

लखनऊ। डा. एपीजे अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनीवर्सिटी और फेल छात्रों के बीच लड़ाई रोचक मोड़ पर आ गई है। फेल छात्र-छात्राओं ने सुनवाई न होने से यूनीवर्सिटी प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। वह अपने हक की लड़ाई को अंजाम तक पहुंचाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं, जबकि विवि प्रशासन अपनी साख बचाने और जिम्मेदार लोगों का पक्ष लेने में रूचि ले रहा हैं। इस मामले में वीसी का रवैया भी बेहद गैरजिम्मेदाराना है। वह फेल छात्रों के भविष्य को गंभीरता से लेने के बजाए इस बात को लेकर परेशान है कि मामले को बेवजह तूल दिया जा रहा है। आलम ये है कि उन्होंने फेल छात्रों के संबंध में कुछ भी कहने और सुनने से इनकार कर दिया। ऐसे में युवाओं को बेहतर तकनीकी शिक्षा और हर तरह का सरकारी सहयोग देने का मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का दावा भी फेल होता नजर आ रहा है।
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आए दिन अपने भाषणों में तकनीकी शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए कहते आए है। सीएम यह मानते है कि टेक्नालॉजी आज की जरूरत है। उसके बिना किसी भी देश और प्रदेश का विकास तेजी से नहीं हो सकता है। इसी वजह से प्रदेश में तकनीकी शिक्षण संस्थानों में बेहतर शिक्षा और सुविधा देने की कोशिश भी कर रहे है। लेकिन शिक्षण संस्थानों में उच्च पदों पर बैठे जिम्मेदार अधिकारी मुख्यमंत्री के सपनों को पूरा करने में सहयोग देने के बजाए अपनी मनमानी करने पर अमादा है। शेष पेज 8 पर…

हमारे पास ऐसी कोई तहरीर नहीं आई है। मुझे इसकी कोई जानकारी नहीं हैं। कुलपति ने मुझे यह भी नहीं बताया है कि घायल शिक्षक किस अस्पताल में भर्ती है और न ही उसके परिजनों ने कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई है।
-आरबी यादव, थानाध्यक्ष, जानकीपुरम
मुझे ऐसी कोई जानकारी नहीं है। आप कुलपति से बात करिए।
-आशीष मिश्रा, पीआरओ, एकेटीयू

बेइमानों को बचाने….
इनके लिए सैकड़ों बच्चों का भविष्य मायने नहीं रखता। इन्हें अपने संस्थान और अपने नाम की चिंता रहती है। सवाल उठता है कि अगर ऐसा ही कुछ यूनिवर्सिटी के वीसी या किसी प्रोफेसर के बच्चे के साथ हुआ होता तो क्या उस मामले में भी जिम्मेदार अधिकारी ऐसी ही संवेदनहीनता दिखाते। एकेटीयू से संबंद्ध कई इंजीनियरिंग कालेजों के करीब 86 स्टूडेंट कैरीओवर परीक्षा में फेल कर दिए गए है। इन छात्रों का आरोप है कि उनके कापियों का मूल्यांकन ठीक से नहीं किया गया। इस वजह से इन छात्रों का भविष्य अधर में लटका हुआ है। पिछले तीन दिन से स्टूडेंट विश्वविद्यालय परिसर से लेकर प्राविधिक शिक्षा मंत्री के आवास तथा सपा मुख्यालय का चक्कर लगा चुके है। इन जगहों पर धरना-प्रदर्शन भी कर चुके हैं, लेकिन कहीं से भी स्टूडेंटस को संतोषजनक कार्रवाई का जवाब नहीं मिला। बिल्कुल ऐसी ही पॉलीटेक्निक छात्रों के साथ हुआ था, तब भी उनकी
सुनवाई में शासन और प्रशासन ने रूचि नहीं ली थी। 19 नवंबर को एकेटीयू कैंपस में छात्रों और एक शिक्षक के बीच विवाद हो गया था जिस पर छात्रो ंंने शिक्षक को थप्पड़ मार दिया था। विवि प्रशासन ने आरोप लगाया था कि छात्रों की मार से शिक्षक कोमा में चला गया है, जबकि अभी तक पता नहीं चल पाया है कि शिक्षक किस अस्पताल में भर्ती हुआ था। इसके अलावा वीसी प्रो. विनय पाठक ने यह भी बयान दिया था कि 13 छात्रों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के लिए तहरीर दी गई है।

Pin It