’मुझसे गुम हुई है मार्कशीट क्या कर लोगे’

छात्र ने संशोधन के लिए अपने तीनों वर्ष के अंक पत्र किये थे जमा
लविवि के ज्योतिर्विज्ञान विभाग का मामला

LU 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। हां मुझसे गुम हुई है मार्कशीट अब बताओं तुम क्या कर लोगे। यह हठधर्मी भरा जवाब लखनऊ विश्वविद्यालय के ज्योतिर्विज्ञान विभाग के कर्मचारी का है। जिनके इस तरह के जवाब यह साफ करते है कि विवि प्रशासन का इन्हें कोई डर नहीं है। यह अभद्र जवाब विवि में पढऩे वाले छात्र राजेश कुमार को उस समय दिया गया। जब वह अपनी बीएसी प्रथम, द्वितीय व तृतीय वर्ष की मार्कशीट लेने ज्योर्तिय विज्ञान विभाग पहुंचे। जहां उसे सेकेण्ड इयर की मार्कशीट न मिलने पर सवाल किया। पहले तो जिम्मेदारों ने यह कहा कि आपने जमा नहीं किया है। काफी देर सवाल-जवाब के बाद जिम्मेदार ने यह जवाब देते हुए छात्र द्वारा भरा हुआ प्रोफार्मा फाड़ के फेंक दिया। छात्र ने इस बात की शिकायत परीक्षा नियंत्रक से की।
छात्र का कहना है कि त्रुटियां सही करने के लिए उसने अपने तीनों वर्ष की मार्कशीट 10 नवम्बर को ज्योर्तिय विज्ञान विभाग में जमा किया था। उस पर इनरोलमेंट नम्बर नहीं था। जब वह आठ नवम्बर को विभाग पहुंचा तो उसे बताया गया कि उसकी प्रथम वर्ष की मार्कशीट आ चुकी है। तीसरे सेमेस्टर की मार्कशीट आरटीआई के तहत बनने गई है। सेकेण्ड इयर की मार्कशीट के विषय में पूछने पर उन्होंने कहा कि वह मार्कशीट जमा ही नहीं की गयी है। काफी देर समझाने के बाद वहां बैठे एक छात्र ने कहां कि उसने सारी मार्कशीट यहां जमा की है। छात्र ने सत्यता की जांच करने के लिए उस दिन की सीसीटीवी फुटेज देखने की बात कही। इस पर गुस्साए कर्मचारी ने कहा कि हां मुझसे गुम हुई है मार्कशीट अब बताओं क्या कर लोगे। जो कर सकते हो कर लो। ऐसे जवाब के बाद छात्र ने अपनी मार्कशीट वापस मांगी तो जिम्मेदार ने कहा कि फिर से फीस भरो। इससे हताश छात्र परीक्षा नियंत्रक के पास शिकायत करने पहुंचा। छात्र ने पत्र लिखकर कार्रवाई करने की मांग की।
छात्र ने पत्र दिया है दोषियों पर कार्रवाई होगी।
-एसके शुक्लापरीक्षा नियंत्रक, लविवि

Pin It