मुख्यमंत्री कार्यालय भी रखेगा जन शिकायतों पर नजर

25 जनवरी से ऑनलाइन दर्ज करा सकेंगे समस्याएं

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश सरकार जनसुनवाई के लिए एक अलग पोर्टल 25 जनवरी से शुरू करेगी। प्रदेश सरकार ने इंटीग्रेटेड ग्रीवांस रीड्रेशल सिस्टम डिवेलप किया है। जनसुनवाई डाट यूपी डाट एनआईसी डाट इन वेबसाइट पर नागरिक किसी भी समय शिकायत कर सकेंगे। इसके अलावा इसी वेबसाइट के जरिए शिकायतकर्ता अपनी शिकायत को ट्रैक कर सकेंगे। मुख्यमंत्री कार्यालय भी जनता की शिकायतों पर नजर रखेगा।
पहले चरण में इस सेवा के अंतर्गत मुख्यमंत्री कार्यालय, जिलाधिकारी कार्यालय, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कार्यालय, तहसील दिवस, भारत सरकार और जनसेवा केंद्रों पर होने वाली शिकायतों को शामिल किया जाएगा। प्रदेश के सभी सरकारी कार्यालयों में पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन की सुविधा होगी। एक बार शिकायत दर्ज होने के बाद शिकायतकर्ता को संबंधित दफ्तर में जाने की कोई जरूरत नहीं होगी। सुविधा को सफल बनाने के लिए नोडल अधिकारी भी नियुक्त किए जाएंगे। हर विभाग एक वरिष्ठ अधिकारी को नोडल के तौर पर तैनात करेगा। पोर्टल का इस्तेमाल कर शिकायतें ऑनलाइन भी दर्ज की जा सकेंगी। मामलों को विभागवार और उनकी प्राथमिकता के आधार पर विभाजित किया जाएगा। डाटाबेस में जिलों की पूरी सूचना मसलन ग्राम पंचायत, थाना, ब्लॉक, नगर निकाय , तहसील, विधानसभा और लोकसभा सहित बुनियादी जानकारियां होंगी। इनमें दी गई जानकारी सही हो इसकी जिम्मेदारी जिलाधिकारी की होगी। अगर कोई समस्या तत्कालिक समाधान योग्य है, तो उसको अलग से चिन्हित करके निस्तारित किया जायेगा। इसमें सारी शिकायतें एक ही पोर्टल पर उपलब्ध होंगी। इसके लिए नागरिकों से प्राप्त आवेदन पत्रों को स्कैन करके अपलोड किया जाएगा। आवेदक को रजिस्ट्रेशन और निस्तारण हर एक स्तर पर एसएमएस के जरिए जानकारी दी जाएगी। निर्धारित समय में शिकायत का निस्तारण न होने पर शिकायतकर्ता संबंधित अधिकारी को रिमांइडर भेज सकता है।

Pin It