मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पुस्तक ‘ए रेन्बो लैण्ड-फेयर एण्ड फेस्टिवल ऑफ उत्तर प्रदेश’ का किया विमोचन

  • पुस्तक के माध्यम से पर्यटकों एवं अन्य जिज्ञासुओं को प्रदेश के बारे में मिलेगी विस्तृत जानकारी
  • उत्तर प्रदेश को ‘बेस्ट इण्डियन डेस्टिनेशन फॉर कल्चर अवॉर्ड’ से नवाजा गया

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Capture 2लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि उत्तर प्रदेश विविधताओं वाला राज्य है। जहां जनसंख्या के मामले में यह देश का सबसे बड़ा प्रान्त है, वहीं दुनिया के सबसे बड़े धार्मिक मेले कुम्भ का आयोजन भी यहीं होता है। आदिकाल से प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में कई सांस्कृतिक, धार्मिक एवं सामाजिक मेलों का आयोजन होता रहा है, जिसमें स्थानीय नागरिकों के साथ-साथ देश एवं विदेश के पर्यटक भी भाग लेते हैं। जब पर्यटकों की संख्या बढ़ेगी, तो रोजगार के नये-नये अवसर भी पैदा होंगे। मुख्यमंत्री ने यह विचार आज अपने सरकारी
आवास पर वरिष्ठ पत्रकार प्रभु चावला से मुलाकात के दौरान व्यक्त किए।
इस अवसर पर धर्मार्थ कार्य विभाग तथा सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग द्वारा तैयार की गई पुस्तक ‘ए रेन्बो लैण्ड-फेयर एण्ड फेस्टिवल ऑफ उत्तर प्रदेश’ का विमोचन करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस पुस्तक में प्रदेश के अलग-अलग क्षेत्रों में आयोजित होने वाले मेलों की जानकारी दी गई है, जिसका लाभ देशी एवं विदेशी पर्यटकों को मिलेगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं, जिसके परिणामस्वरूप पर्यटकों की संख्या में तेजी से बढ़ोत्तरी हो रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार के प्रयासों के फलस्वरूप उत्तर प्रदेश को ‘बेस्ट इण्डियन डेस्टिनेशन फॉर कल्चर अवॉर्ड’ से नवाजा गया। उन्होंने कहा कि इस अवॉर्ड के लिए उत्तर प्रदेश का चयन ‘लोनली प्लैनेट’ पत्रिका द्वारा कराए गए सर्वे के आधार पर किया गया। अंतर्राष्ट्रीय प्रसिद्धि की यह पत्रिका ट्रवेल गाइड के रूप में अपनी पहचान बना चुकी है, जो पर्यटकों को यात्रा और पर्यटन स्थलों के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियां एवं सलाह उपलब्ध कराती है। उन्होंने ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा लागू की गई नई पर्यटन नीति-2016 के परिणाम अब दिखायी पडऩे लगे हैं। राज्य के लोगों में देश के अन्य धार्मिक स्थलों के प्रति आकर्षण पैदा करने एवं आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के तीर्थाटन हेतु राज्य सरकार ने समाजवादी श्रवण यात्रा की शुरूआत की है, जिसके माध्यम से अब तक हजारों वृद्धजनों को विभिन्न धार्मिक स्थलों का भ्रमण राज्य सरकार की तरफ से कराया जा चुका है।
प्रभु चावला ने की पुस्तक की सराहना
इस मौके पर श्री प्रभु चावला ने ‘ए रेन्बो लैण्ड’ पुस्तक की सराहना करते हुए कहा कि इसके माध्यम से पर्यटकों एवं अन्य जिज्ञासुओं को उत्तर प्रदेश की विस्तार से जानकारी मिल सकेगी। इस पुस्तक में करीब 200 मेलों और त्योहारों से जुड़ी जानकारियां संकलित की गई हैं, जिससे प्रदेश के अलग-अलग क्षेत्रों की सांस्कृतिक एवं धार्मिक विविधता को भी आसानी से जानने एवं समझने का मौका मिलेगा। उन्होंने कहा कि यह पुस्तक पर्यटकों के लिए काफी उपयोगी सिद्ध होगी।

Pin It