मीडिया को पक्ष में लेने की जगह पंखुड़ी ने खोला वेब पोर्टल के खिलाफ मोर्चा

निगेटिव खबर लगने से बौखलाई पंखुड़ी
कुछ दिनों पहले वेब पोर्टल की पॉजिटिव खबर को किया था शेयर

Capture 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। पंखुड़ी पाठक अब किसी पहचान की मोहताज नहीं हैं। जब से उन्हें समाजवादी पार्टी की तरफ से मीडिया स्पोक्श पर्सन का पद दिया गया है तब से वह अक्सर सुर्खियों में रहती हैं। कभी अपने सोशल मीडिया कैंपेन को लेकर तो कभी अपने सोशल मीडया मीट को लेकर। लेकिन इस बार पंखुड़ी अपने किसी ऐसे कार्य को लेकर चर्चा में नहीं हैं बल्कि एक वेब पोर्टल ‘जनता की आवाज’ के खिलाफ मोर्चा खोलने को लेकर चर्चा में हैं।

गौरतलब है कि पिछले दिनों पंखुड़ी पाठक ने समाजवादी सरकार के पक्ष में सोशल मीडिया को लाने के लिए #ISupportAkhilesh नाम से कैम्पेन की शुरुआत की थी। इसके बाद पंखुड़ी पाठक ने राजधानी लखनऊ के राय उमानाथ बली प्रेक्षाग्रह में सोशल मीडिया मीट का आयोजन किया था। प्रदेश भर से कार्यकर्ताओं के आवाहन पर भी पूरे समारोह में सिर्फ 19 लोग ही पहुंचे थे। इसके अलावा पार्टी की तरफ से भी किसी बड़े नेता ने इस कार्यक्रम में हिस्सा भी नहीं लिया था। साथ ही सोशल मीडिया तो दूर उनके इस कैंपेन को प्रिंट व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में भी खास तवज्जो नहीं मिली। या यूं कहें कि पंखुड़ी का पहला शो पूरी तरह से फ्लॉप रहा तो यह गलत न होगा। जिसके बाद एक वेब पोर्टल ‘जनता की आवाज’ ने यह खबर अपने यहां चला दी। इस खबर की जानकारी मिलने के बाद से ही पंखुड़ी पाठक बुरी तरह से बौखला गयीं और वेब पोर्टल के खिलाफ मोर्चा खाले दिया। उन्होंने अपने फेस बुक अकाउंट पर वेब पोर्टल के खिलाफ कई पोस्ट किये और यह अपील भी की कि लोग इसका बॉयकाट करें। वह यह भी भूल गयीं कि समाजवादी पार्टी ने उन्हें एक खास जिम्मेदारी दी है जिसके तहत उन्हें मीडिया को अपने पक्ष में लाने का काम करना है न कि किसी वेब पोर्टल के खिलाफ मोर्चा खोलना है। वहीं पंखुड़ी ने पिछले दिनों इस वेब पोर्टल की एक पॉजिटिव खबर को अपने टाइमलाइन पर पोस्ट किया था। पंखुड़ी के इस बर्ताव को लेकर भी सोशल मीडिया में चर्चा है कि वह अपनी बुराई नहीं सुन सकतीं।

Pin It