मीडियाकर्मियों से माफी मांग रहा अमनड्ढ

तो हम क्या करें: जेल अधीक्षक
इस संदर्भ में जेल अधीक्षक डीआर मौर्या से वार्ता की गई तो उन्होंने कहा कि तो हम क्या करें। यदि फेसबुक अपडेट किया जा रहा है तो कोई और कर रहा होगा। जेल से यह सम्भव नहीं है।
अभी दिखवाता हूं: एडीजी लॉ एंड ऑर्डर
इस संदर्भ में अपर पुलिस महानिदेशक लॉ एंड ऑर्डर दलजीत चौधरी से वार्ता की गई तो उन्होंने कहा कि यह मामला संज्ञान में नहीं है। अभी तत्काल इस मामले को दिखवाता हूं।

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। जिन अमनमणि ने अपनी गिरफ्तारी के वक्त मीडियाकर्मियों पर हमला करने से भी गुरेज नहीं किया था। जेल की सलाखों के पीछे जाने के बाद वहीं अमनमणि अपनी बेगुनाही साबित करने के लिए सोशल मीडिया पर मीडियाकर्मियों से माफी मांग रहा है। इसी कड़ी में अमनमणि की फेसबुक वाल पर जस्टिस फॉर अमन के नाम का पेज बनाया गया है जिसमें मीडियाकर्मियों से माफी भी मांगी है।

प्रिय मीडिया के बंधुओं…
मैं अत्यंत दुखी और घायल अवस्था मैं था, बंधुओं, जब आपके साथ मुझसे कुछ असंतुलित व्यवहार हो गया। व्यवहारोंपरांत मुझे बहुत आत्मग्लानि हुई। मैं इस कृत के लिए अत्यंत शर्मिंदा हूँ, क्षमायाचक हूं। कृपया मुझे क्षमा करे। आपका क्षमाप्रार्थी, अमन।’ यह कहना है अमनमणि त्रिपाठी का। हालांकि अमनमणि त्रिपाठी जेल की सलाखों के पीछे है पर रात के लगभग एक बजे उसके फेसबुक पर मीडियाबंधुओं के लिये माफी का संदेश अपलोड किया गया। सवाल यह उठता है कि अमनमणि का फेसबुक कौन संचालित कर रहा है? यदि अमनमणि खुद कर रहे है तो क्या उन्हें जेल में सुविधाएं दी जा रही है। यदि बाहर का कोई कर रहा है तो अमन खुद को बेकुसूर साबित करने के लिए अब फेसबुक से अपील कर रहे है। सारा की संदिग्ध मौत और ठेकेदार के अपहरण के मामले में अमनमणि लखनऊ जेल में बंद है। जबकि उसका फेसबुक एकाउंट लगातार अपडेट किया जा रहा है। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या अमनमणि ही अपडेट कर रहा है या कोई उसका जानने वाला। यदि अमनमणि ही अपडेट कर रहा है तो उसे जेल में इस तरह की सुविधाएं कौन मुहैया करा रहा है। 10 जुलाई को पुलिस ने अमनमणि को जेल भेजा था। जहां 15 दिन बाद अमनमणि का फेसबुक एकाउंट अपडेट होने लगा। 25 जुलाई को उसके फेसबुक एकाउंट से अपडेट किया गया है कि ‘प्रिय मित्रों, आपको मेरी वत्र्तमान स्तिथि के बारे में जानकारी है में आपको यकीन दिलाना चाहता हूँ की में बिलकुल निर्दोष हूँ में इस पेज के माधयम से सच सामने लाना चाहता हूँ इस बुरे वक्त में मेरे सात देने के लिया शुक्रिया आपका भाई, आपका बेटा अमन।’ जबकि ठीक दूसरे दिन 26 जुलाई को अपडेट मीडियाकर्मियों से माफी मांगी गई है।

Pin It