मिशन 2017 की तैयारी में जुटीं मायावती

बसपा कार्यालय पर हुई बैठक में मायावती ने चुनाव जीतकर आए पदाधिकारियों को दी बधाई
असेम्बली चुनाव की तैयारियों में जुटने का दिया निर्देश

G14पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के पहले चरण के जिला पंचायत सदस्य और क्षेत्र पंचायत सदस्य के चुनावी नतीजों में बसपा को मिली शानदार कामयाबी से उत्साहित बसपा सुप्रीमो मायावती की अध्यक्षता में आज बसपा कार्यालय पर एक बैठक हुई जिसमें उत्तर प्रदेश के साथ-साथ उत्तराखंड के पदाधिकारी उपस्थित थे। बैठक में मायावती ने पंचायत चुनाव जीतकर आए पदाधिकारियों को बधाई दी और नेताओं और पदाधिकारियों को असेंबली चुनाव की तैयारियों में जुटने का निर्देश दिया।
आज सुबह से ही बसपा मुख्यालय पर वरिष्ठï नेता और पदाधिकारियों का जमावड़ा लगना शुरु हो गया था। सभी के चेहरे पर पंचायत चुनाव की जीत का उत्साह दिख रहा था। इस बैठक में उत्तर प्रदेश के जिला व मंडल समन्वयक से लेकर उत्तराखंड के भी पदाधिकारी उपस्थित थे। इस अवसर पर बसपा सुप्रीमो ने नेताओं और कार्यकर्ताओं में जोश भरा और 2017 में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट जाने का आह्वïान किया। सोमवार को पंचायत चुनाव के नतीजों में भारी संख्या में बसपा समर्थित प्रत्याशियों को जीत मिलने के बाद से ही बसपा खेमे में खुशी की लहर थी। इस चुनाव पर मायावती भी निगाह लगाए थीं। बैठक में बीएसपी के कई दिग्गज नेता भी
मौजूद थे। इस अवसर पर 2017 में यूपी और उत्तराखंड में होने वाले चुनाव की तैयारी पर भी रणनीति बनायी गई।

सडक़ों पर मौत बनकर दौड़ रहे हैं डम्फर, स्कूली बस को मारी टक्कर

बस में सवार 13 बच्चे हुये घायल, राम मनोहर लोहिया अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद दी गई छुट्टïी, लापरवाह डम्फर चालक पुलिस हिरासत में

लखनऊ। राजधानी की सडक़ों पर डम्फर मौत बनकर दौड़ रहे है। डम्फर कब किसे कुचल दें, कब किसको मौत की नींद सुला दें, इसका कोई भरोसा नहीं है। गुरुवार की सुबह तेज रफ्तार डम्फर ने स्कूली बस को टक्कर मार दी। बस में सवार करीब एक दर्जन बच्चे घायल हो गये। राहगीरों की मदद से घायल बच्चों को राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है। लोगों ने डम्फर चालक को पकड़ लिया और पिटाई के बाद पुलिस के हवाले कर दिया है।
जीडी गोयनका पब्लिक स्कूल की बस गुरुवार की सुबह स्कूली बच्चों को लेकर स्कूल जा रही थी। गोमतीनगर समतामूलक चौराहे के पास सामने से आ रहे डम्फर (यूपी 77 एन 8533) ने स्कूली बस को टक्कर मार दी। बस में लगी टक्कर से बस में सवार बच्चे सहम गये और डर की वजह से रोने लगे। यह दुर्घटना सरासर डम्फर चालक की लापरवाही की वजह से हुई थी। स्कूल बस के ड्राइवर की सूझबूझ का नतीजा था कि बस में सवार छात्रों को मामूली चोट आई। बस में सारी सुविधाएं भी थी। बस में सवार गर्व अग्रवाल (11), सूर्या गर्ग (11), टिंकू सिंह (4), कृष्ण (1०), अंशिका (4), ईशिका (7), गौरिका शुक्ला (5), विश्वास शुक्ला (5), आर्या श्रीवास्तव (8), अर्पण अग्रवाल (16), ईशांत शर्मा (10), अनीता गोयल (4) और आरती (28) को मामूली चोट आई। जैसे ही दुर्र्घटना हुई राहगीर ठहर गये। इस बीच डम्फर छोडक़र फरार हो रहे चालक हमीरपुर निवासी अमरजीत सिंह को दबोच लिया और उसकी पिटाई करने के बाद पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस की मदद से घायलों को राम मनोहर लोहिया अस्पताल में ले जाया गया। जहां घायलों को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टïी दे दी गर्ई। जैसे ही दुर्घटना की सूचना गोयनका स्कूल के मालिक सर्वेश गोयल को हुई वह अस्पताल पहुंचे। इस बस में उनकी बेटी भी सवार थी। उन्होंने घायल हुए बच्चों का हालचाल लिया। राजधानी में अवैध खनन की वजह से दिन भर डम्फर सडक़ों पर दौड़ते रहते हैं। डम्फर चालकों को ताकतवर लोगों का संरक्षण प्राप्त होता है इसलिए इन्हें किसी का डर नहीं होता। भीड़-भाड़ वाली सडक़ों पर भी इनकी स्पीड कम नहीं होती।

भारी पड़ गई लाल बत्ती की हेकड़ी

सिविल अस्पताल के सामने आज लाल बत्ती सवार लोगों की हेकड़ी उस समय उतर गई जब उन्होंने एक छात्रा की स्कूटी में टक्कर मार दी। छात्रा स्कूटी से जा रही थी कि पीछे से तेज गति से आ रही लाल बत्ती कार ने उसे टक्कर मारी और छात्रा सडक़ पर गिर गई। लाल बत्ती लगी कार में बैठे लोगों पर सत्ता का इतना भूत सवार था कि उन्होंने उल्टा छात्रा पर ही रौब गांठना शुरू कर दिया, मगर उसके बाद जो हुआ उसकी कल्पना इन लोगों ने नहीं की थी। यह छात्रा उठी और उसने गाड़ी पर लगी लाल बत्ती उतार कर फेंक दी और गाड़ी का वाइपर भी तोड़ दिया। मौके पर जुटी भारी भीड़ के सामने छात्रा ने कार सवार लोगों को जमकर खरी-खोटी सुनाई और स्कूटी लेकर चली गई।

Pin It