माहौल बिगाडऩे की साजिश

“बीजेपी विधायक हुकुम सिंह ने कैराना से हिंदुओं के पलायन की लिस्ट जारी की तो देखते ही देखते बीजेपी भी प्रदेश सरकार पर हमलावर हो गई। लेकिन जब शासन ने अपने स्तर पर जांच कराई तो मामला उससे बिल्कुल भिन्न निकला। इतना ही नहीं मीडिया पड़ताल में भी यह बात सामने आई कि वहां ऐसा कुछ नहीं है।”

sanjay sharma editor5उत्तर प्रदेश एक बार फिर चर्चा में है। पूरे देश की निगाहे उत्तर प्रदेश की कैराना पर है। कैराना के मुद्दे पर बीजेपी खूब राजनीति कर रही है। जिस तरह से कैराना को जबरदस्ती का मुद्दा बनाने की कोशिश की जा रही है वह प्रदेश के लिए कतई ठीक नहीं है। सिर्फ और सिर्फ चुनावी लाभ लेने के लिए जनता की भावनाओं को भडक़ाने की कोशिश की जा रही है। यदि प्रदेश का अमन-चैन बिगड़ेगा ता निश्चित ही इसमें जनता ही पिसेगी। राजनीतिक दल तो सिर्फ और सिर्फ राजनीति करेंगे। आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए कैराना का मुद्दा बहुत अहम हो गया है। जानबूझकर इसमें घी डालने की कोशिश की जा रही है। बीजेपी विधायक हुकुम सिंह ने कैराना से हिंदुओं के पलायन की लिस्ट जारी की तो देखते ही देखते बीजेपी भी प्रदेश सरकार पर हमलावर हो गई। लेकिन जब शासन ने अपने स्तर पर जांच कराई तो मामला उससे बिल्कुल भिन्न निकला। इतना ही नहीं मीडिया पड़ताल में भी यह बात सामने आई कि वहां ऐसा कुछ नहीं है। वहां हिंदु-मुस्लिम समुदाय के लोग बहुत ही प्यार से रहते हैं। जो लोग वहां से गए हैं वह रोजी-रोटी या अन्य कारणों की वजह से गए। मीडिया रिपोर्ट के बाद वहां की तस्वीर एकदम साफ हो गई, फिर भी बीजेपी के नेता मानने को तैयार नहीं। जिस तरह से हुकुम सिंह ने लिस्ट जारी की और बयानबाजी की, यदि पुलिस-प्रशासन और मीडिया चौकस न हुई होती तो निश्चित ही प्रदेश का माहौल बिगड़ता। नेताओं की बयानबाजी और गंदी राजनीति में कैराना के लोग दहशत में आ गए हैं। मीडियाकर्मियों से लेकर नेताओं का वहां आना-जाना लगा हुआ है।
फिलहाल यूपी के कैराना पलायन विवाद को लेकर बीजेपी के नेता सवालों के घेरे में हैं। अब इस विवाद का श्रेय लेने की पार्टी में होड़ मच गई है। बीजेपी विधायक संगीत सोम ने कल प्रशासन की अनुमति न मिलने के बावजूद निर्भय यात्रा निकालने की कोशिश की। लेकिन प्रशासन ने उन्हें रोक लिया। हालांकि बीजेपी सांसद हुकुम सिंह ने उन्हें आने से मना कर दिया था। संगीत सोम को कैराना में माहौल न खराब करने की नसीहत दे रहे बीजेपी सांसद हुकुम सिंह ने ही सबसे पहले कथित हिंदू पलायन का मुद्दा उठाया था। वही संगीत सोम को कैराना आने से रोक रहे हैं। दरअसल हुकुम सिंह कैराना पलायन के मुद्दे को अपने हाथ से नहीं जाने देना चाहते हैं। हुकुम सिंह को डर है कि जिस मुद्दे को उन्होंने गरमाया था उसे कोई और न लपक ले। मुजफ्फरनगर दंगों के आरोपी और यूपी के सरधना से बीजेपी विधायक संगीत सोम इस मुद्दे को भुनाने से पीछे हटना नहीं चाहते। यहां सवाल उठता है कि रिपोर्ट के मुताबिक जब वहां सब कुछ सामान्य है तो जानबूझकर क्यों माहौल खराब किया जा रहा है ? प्रशासन तो अपना काम कर ही रही है, यहां सबसे ज्यादा सजग किसी को होना है तो, वह है जनता। जनता को किसी नेता के बहकावे में नहीं आना चाहिए। अपनी बुद्धि का इस्तेमाल कर कुछ तथाकथित माननीयों से दूर रहना चाहिए।

Pin It