मालिक ने नहीं तो फिर गगन के गले में मौत का फंदा किसने डाला

निशातगंज में मोबाइल चोरी के आरोप में हत्या
पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चलेगा कि मौत जहर से हुई या उसे फंदे से लटकाया गया

Capture
 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। निशातगंज के एसके गारमेंट शॉप के मालिक संतोष कुमार श्रीवास्तव ने मोबाइल चोरी के आरोप में अपने यहां काम करने वाले गगन (14) की पिटाई की बात तो कुबूली है, लेकिन उसकी हत्या करने से इन्कार किया है। महानगर पुलिस की पूछताछ में देर रात संतोष ने बताया कि उसने दोपहर में गगन की पिटाई की। हालांकि वह गगन को फंदे पर लटकाने से साफ मुकर गया। सीओ महानगर राजेश कुमार पांडेय ने कहा कि गगन के साथ दुकान में तीन-चार अन्य लडक़े भी काम करते थे, जो घटना के बाद भाग गए। उन्हें घटनाक्रम के बारे में पूरी जानकारी होगी। उन्होंने सभी कर्मचारियों से पूछताछ करने के निर्देश दिए हैं। संतोष को आज कोर्ट में पेश किया जाएगा।
पुलिस का मानना है कि संतोष ने मारपीट कर गगन को कमरे में बंद कर दिया होगा, जिससे घबराकर उसने खुद फांसी लगाकर जान दे दी होगी। शरीर नीला पड़ा होने से पुलिस जहर से मौत की आशंका रही है। सीओ ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में साफ हो जाएगा कि गगन की मौत जहर से हुई या उसे फंदे से लटकाया गया।
सुध-बुध खो बैठी है मां
एक महीने में दो बेटों की मौत से गगन की मां सुधा सुध-बुध ही खो बैठी है। लोगों ने बताया कि सुनील के तीन बेटे राहुल, परम और गगन थे। पिछले महीने बीमारी के चलते राहुल की मौत हो गई थी। अब सिर्फ परम ही अकेला बचा है। वह चौथी कक्षा में पढ़ता है।
गगन के पिता सुनील ने बताया कि उसका बेटा एक महीना पहले ही पेपरमिल कालोनी निवासी संतोष की दुकान में काम शुरू किया था। उसे 1500 रुपये महीने पर रखा गया था। अभी उसे पहली सैलरी भी नहीं मिली थी। पुलिस का कहना है कार्रवाई हो रही है जल्द ही आरोपी पकड़ा जायेगा।

Pin It