मायावती ने मंत्रियों की बर्खास्तगी को बताया सपा की नाटकबाजी

  • जनता समझ चुकी है कि सपा सरकार साढ़े चार साल जुटी रही लूट-खसोट में

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
2लखनऊ। यूपी के सीएम अखिलेश यादव द्वारा दो मंत्रियों की बर्खास्तगी को बसपा सुप्रीमो मायावती ने नाटकबाजी बताया है। उन्होंने कहा है कि प्रदेश में विधानसभा आम चुनाव से ठीक पहले भ्रष्टाचार के आरोप में इनकी बर्खास्तगी केवल दिखावटी है। इस संबंध में मुलायम सिंह यादव के बयान को उन्होंने बाप-बेटे की ड्रामेबाजी करार दिया है।
सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने दो मंत्रियों पर करप्शन के आरोपों और उनकी बर्खास्तगी वाले मामले में कहा था कि वे यूपी से बाहर गए थे। इस पूरे मामले की जानकारी उन्हें मीडिया से मिली है। इसी मामले पर मायावती ने मुलायम सिंह यादव को घेरने की कोशिश की है। मायावती ने सपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सपा के साढ़े चार साल के कार्यकाल में बेतहाशा लूट-खसोट के बारे में आम जनता अच्छी तरह समझती है। प्रदेश में अराजकता और जंगलराज आदि कारणों से लोगों का जीवन बेहाल है। हर स्तर पर व्यापक भ्रष्टाचार के बारे में यह सरकार चर्चाओं में है। भ्रष्टाचार में लिप्त मंत्रियों और नेताओं को सरकार के मठाधीश हर तरह का संरक्षण देते रहे हैं। प्रदेश में आम चुनाव नजदीक है। इसलिए आम लोगों को बरगलाने की नीयत से मंत्रियों को बर्खास्त करने की दिखावटी कार्रवाई की गई है। हर मंत्री के भ्रष्टाचार, दबंगई और गुंडई के चर्चे जनता में आम हैं। कई मंत्रियों के खिलाफ विभिन्न प्रकार की जांच के मामले लंबित हैं। कई मंत्रियों के खिलाफ लोकायुक्त आदि की जांच रिपोर्ट को दबाकर रख दिया गया है। इस बारे में बार-बार राज्यपाल से भी निवदेन किया गया है। इसके बावजूद सीएम ने पहले कोई कार्रवाई नहीं की। अब चुनाव नजदीक होने की वजह से सरकार के दामन पर लगे दाग धुलने की कोशिश में जुटे हैं।

Pin It