मायावती ने कहा, राजनीति से सन्यास ले लें मुलायम सिंह

  • बसपा सुप्रीमो ने विधानसभा चुनाव के लिए बैठक में नेताओं को दिए निर्देश

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
7लखनऊ। बसपा सुप्रीमो मायावती ने प्रदेश में सियासी संकट पर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव को राजनीति से सन्यास लेने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि सपा में जो भी हो रहा है। वह कहीं न कहीं मुलायम की वजह से है। इसके साथ ही मायावती ने अपने कार्यालय पर आयोजित कोऑर्डिनेटरों और मंडल स्तरीय नेताओं की बैठक में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए जीत का मंत्र दिया गया।
बहन जी ने कोऑर्डिनेटरों को बूथ स्तर पर पार्टी को मजबूत बनाने और जनता के बीच बसपा कार्यकाल में किये गये बेहतरीन कामों का प्रचार-प्रसार करने का निर्देश दिया। इसमें पार्टी के नेताओं को सलाह दी गई कि अन्य पार्टियों के बहकावे में बिल्कुल न आयें। आने वाले चुनाव में बसपा को बहुमत मिलेगा और उन्हीं की सरकार बनेगी। बहुजन समाज पार्टी से नेताओं के अलग होने का सिलसिला अभी भी जारी है। प्रदेश में बसपा छोडक़र बीजेपी, सपा और कांग्रेस में शामिल होने वाले नेताओं की वजह से पार्टी की एकजुटता को नुकसान पहुंच रहा है। इसका निश्चित तौर पर आम जनता के बीच गलत संदेश जा रहा है। हालांकि मायावती की तरफ से बार-बार बयान दिया जा रहा है कि वह पार्टी छोडक़र जाने वालों को बिल्कुल भी गंभीरता से नहीं ले रही हैं। जो भी पार्टी छोडक़र जा रहा है, वह निश्चित तौर पर बसपा के रिजेक्टेड लोग हैं। वे ऐसे लोग हैं, जो बसपा के लिए बोझ बने हुए हैं। इन सबके बावजूद मायावती पार्टी की तमाम बैठकों में पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को लगातार विरोधी पार्टियों से बचकर रहने की सलाह दी जा रही है। जो निश्चित तौर पर पार्टी से अलग हो रहे लोगों की वजह से पार्टी में बिखराव से बचने की चिन्ता को जाहिर करता है।

Pin It