माफी मांगें केजरीवाल, जांच रिपोर्ट में जेटली का जिक्र नहीं

नई दिल्ली। डीडीसीए विवाद पर गतिरोध और तेज हो गया जब भाजपा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से डीडीसीए मुद्दे पर अरुण जेटली के खिलाफ आरोप लगाने के लिए ‘सार्वजनिक तौर पर माफी मांगने’ को कहा, वहीं आप ने पलटवार करते हुए वित्त मंत्री पर जांच से ‘भागने’ के आरोप लगाए।
भाजपा प्रवक्ता एमजे अकबर ने कहा कि केजरीवाल ने डीडीसीए की जिस फाइल के बहाने सीबीआई छापेमारी को लेकर जेटली पर निशाना साधा उस फाइल में जेटली का नाम तक नहीं है। उन्होंने कहा कि सच्चाई सामने आ गई है। रिपोर्ट में जेटली का नाम नहीं है। उनके खिलाफ कोई आरोप नहीं है, कोई संकेत नहीं है (गलत करने का)। दिल्ली के मुख्यमंत्री को अपने आरोपों को लेकर जेटली से माफी मांगनी चाहिए, उन्हें सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उन्हें अदालत में अपनी गलती स्वीकार करनी चाहिए (जहां जेटली ने मुख्यमंत्री और आप के अन्य सदस्यों के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया है)। उन्होंने दावा किया कि तत्कालीन कांग्रेस सरकार के ‘षड्यंत्र’ के बाद गंभीर धोखाधड़ी जांच कार्यालय ने जांच की थी और जेटली के खिलाफ कुछ नहीं पाया था जो डीडीसीए के पूर्व प्रमुख भी हैं जबकि तब ‘कांग्रेस की सरकार थी।’

लेकिन सत्तारूढ़ आप ने पलटवार करते हुए कहा कि अगर भाजपा को इतना ही विश्वास है कि वह साफ हैं तो फिर जांच से क्यों भाग रहे हैं। उन्हें इसे निष्कर्ष तक पहुंचाना चाहिए। जेटली जांच से क्यों भाग रहे हैं।

Pin It