मानसून सत्र का आगाज लोक सभा में गूंजे चीन बेरोजगारी और ड्रग्स के मुद्दे

मानसून सत्र का आगाज लोक सभा में गूंजे चीन बेरोजगारी और ड्रग्स के मुद्दे

  • प्रश्न काल को निलंबित करने पर भडक़ा विपक्ष कहा, सरकार घोंट रही लोकतंत्र का गला
  • अर्थव्यवस्था और कोरोना पर चर्चा नहीं करने का लगाया आरोप

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। कोरोना काल में संसद के मानसून सत्र का आज आगाज हो गया है। सत्र के पहले दिन ही लोक सभा में विपक्ष ने चीन-भारत तनाव और बढ़ती बेरोजगारी का मुद्दा उठाया। इसके अलावा विपक्ष ने प्रश्नकाल को स्थगित करने पर सरकार को घेरा और जमकर नाराजगी जताई। वहीं भाजपा सांसद रवि किशन ने बॉलीवुड में ड्रग्स के मामले की जांच कराने की मांग की।
मानसून सत्र के पहले दिन लोक सभा की कार्यवाही आज सुबह 9 बजे शुरू हुई। इस साल 15 सांसदों के निधन पर शोक प्रकट करने के बाद लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने सदन के कामकाज के नियम बताए। इस पर विपक्षी दलों ने प्रश्न काल के निलंबन का विरोध किया और सरकार पर सवालों से बचने का आरोप लगाया। हालांकि सरकार ने प्रश्न काल एवं गैर सरकारी कामकाज के निलंबन से जुड़ा प्रस्ताव लोक सभा में रखा जिसे मंजूरी प्रदान कर दी गई। चर्चा के दौरान कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी ने अचानक चीन सीमा विवाद का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि कई महीनों से हिंदुस्तान के लोग भारी तनाव में हैं क्योंकि हमारे सीमा में चीन….इतना बोलते ही स्पीकर ने उन्हें रोक दिया और कहा कि इस पर मीटिंग होगी, अब चर्चा नहीं। अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि आप कार्यवाही चलाते हैं लेकिन प्रश्नकाल को हटा देते हैं। आप लोकतंत्र का गला घोंटने की कोशिश कर रहे हैं। एआईएमआईएम के असदुद्दीन ओवैसी और तृणमूल कांग्रेस के कल्याण बनर्जी ने भी इस प्रस्ताव का विरोध किया। वहीं एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले ने कहा कि अर्थव्यवस्था, महामारी और बेरोजगारी पर सरकार बात नहीं कर रही है।

बदला-बदला दिखा सदन

कोरोना काल में लोक सभा बदली-बदली नजर आई। सांसदों की डेस्क के आगे कांच की शील्ड लगाई गई है। इससे कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने में मदद मिलेगी। अधिकतर सांसद बैठकर ही अपनी बात रखते दिखे। सांसदों के हाजिरी लगाने का तरीका भी बदल गया है। अब सांसदों को अटेंडेंस रजिस्टर ऐप के जरिए उपस्थिति दर्ज करानी होगी।

जवानों के साथ है पूरा देश: पीएम मोदी

सत्र की शुरुआत से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि संसद सत्र विशिष्ट समय पर शुरू हो रहा है। कोरोना भी है और कर्तव्य भी। सांसदों ने कर्तव्य का रास्ता चुना। मैं उनका अभिनंदन और आभार व्यक्त करता हूं। इस बार लोक सभा-राज्य सभा की कार्यवाही एक दिन में अलग-अलग समय पर होगी। संसद की कार्यवाही शनिवार-रविवार को भी चलेगी। उन्होंने कहा कि जब तक दवाई नहीं तब तक कोई ढिलाई नहीं। मुझे विश्वास है कि सभी सदस्य मिलकर संदेश देंगे कि पूरा देश जवानों के साथ खड़ा है जो सीमा पर डटकर मातृभूमि की रक्षा कर रहे हैं।

48 लाख के पार पहुंचा संक्रमण का आंकड़ा

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़े के अनुसार देश में कोरोना मरीजों की संख्या बढक़र 48,46,428 लाख हो चुकी है जबकि 9,86,598 लाख ऐक्टिव केस हैं। 37,80,108 लोग इस बीमारी को मात दे चुके हैं। इस जानलेवा बीमारी ने देश में अबतक 79,722 लोगों की जान ले ली है। पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना के 92,071 नए केस सामने आए हैं और 1,136 लोगों की मौत हुई है।

भारत में कोरोना नियंत्रित: हर्षवर्धन

नई दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि देश में कोरोना के संक्रमण की दर कम है। भारत में कोरोना के नए मामले और मौतों पर रोक लगाने में कामयाबी मिली है। ज्यादातर नए केस और मौतें महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश, तमिलनाडु, कर्नाटक, यूपी, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, बिहार, तेलंगाना, ओडिशा, असम, केरल और गुजरात से आ रहे हैं। कोरोना से ठीक होने वालों का प्रतिशत 78 हो गया है।

प्रदेश सरकार के खिलाफ सपा का हल्ला बोल, लाठीचार्ज

  • पूरे उत्तर प्रदेश में सपा कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन, गिरफ्तार
  • लखनऊ में भी कार्यकर्ताओं ने दिया धरना

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सपा प्रमुख अखिलेश यादव के आह्वान पर पार्टी के चारों यूथ विंग के कार्यकर्ताओं ने आज राजधानी लखनऊ समेत पूरे प्रदेश में ज्ञापन कार्यक्रम चलाया। इस दौरान कई जगह सपा कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच टकराव हुआ। कई जगह सपा कार्यकर्ता धरने पर भी बैठ गए। कई जगह पुलिस ने लाठीचार्ज किया।
समाजवादी पार्टी के युवा कार्यकर्ताओं ने बेहाल किसान, महंगी शिक्षा, बेरोजगारी, निजीकरण, भ्रष्टाचार, नष्ट रोजगार, आरक्षण पर वार और यूपी में बीएड प्रवेश परीक्षा में दलित छात्रों के निशुल्क प्रवेश पर रोक मुद्दे पर ज्ञापन सौंपा। सपा कार्यकर्ताओं ने लखनऊ कलेक्ट्रेट में ज्ञापन देने के बाद घंटों धरना दिया। प्रयागराज में प्रदर्शन और ज्ञापन सौंपने के दौरान सपा कार्यकर्ताओं और पुलिस में जमकर झड़प हुई जिसके बाद पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर 50 से ज्यादा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया। गाजीपुर और वाराणसी में भी सपा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने लाठीचार्ज कर खदेड़ा।

किसानों को बड़े व्यापारियों का गुलाम बनाना चाहती है भाजपा: अखिलेश

लखनऊ। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने एक बार फिर किसानों के मुद्दे पर भाजपा सरकार पर वार किया। उन्होंने ट्वीट किया, भाजपा सरकार 2014 से ही किसान विरोधी रही है। ‘भूमि अधिग्रहण’ के कुप्रयास के बाद अब भाजपा कृषि-अध्यादेशों के जरिये किसानों को बड़े व्यापारियों का मोहताज बनाना चाहती है। भाजपा इन अध्यादेशों को ‘किसानों की आजादी’ के जुमले का नाम देकर किसानों को गुलाम बनाना चाहती है। सपा प्रमुख ने भ्रष्टïाचार और बढ़ते अपराधों पर भी ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, महोबा के ‘इंद्रकांत त्रिपाठी सरकारी हत्याकांड’ में दिखावटी सस्पेंशन की लीपापोती न करके सरकार गिरफ्तारी करे। आरोपी पुलिस कप्तान व डीएम के खिलाफ इतनी ढिलाई क्यों? पुलिस किस अधिकार से जन प्रतिनिधियों को जनता से मिलने व उनके मुद्दे उठाने से रोक रही है? भाजपा शासन में व्याप्त भ्रष्टाचार का भंडाफोड़ करनेवाले व्यापारी इन्द्रकांत त्रिपाठी की हत्या ने साबित कर दिया है कि शासन की ‘ठोको नीति’, पुलिस-प्रशासन के ‘फेक एनकाउंटर’, विपक्षी राजनीतिज्ञों के ऊपर ‘झूठे मुकदमों’ की भाजपाई नीति से उप्र गर्त में चला गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *