माता-पिता ने लगाई बच्चे के निशुल्क इलाज की गुहार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। रायबरेली के 15 माह के हार्दिक की परेशानियां खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं। आर्थिक रूप से कमजोर हार्दिक के पिता भी अब उसकी बीमारी से परेशान हो चुके हैं। हार्दिक के माता-पिता इलाज के लिए केजीएमयू का चक्कर काट रहे हैं। उन्होंने केजीएमयू प्रशासन से हार्दिक के निशुल्क इलाज के लिए गुहार लगाई है।
15 महीने के मासूम हार्दिक को अजीबो गरीब बीमारी हो गई है। उसके शरीर से सूईयां निकल रही हैं। डॉक्टरों ने अब तक तीन सूई निकाली है। 25 सूई अभी भई उसके शरीर में है। हार्दिक के माता-पिता उसको लेकर बस अस्पतालों के चक्कर ही लगा रहें है। 15 महीने के हार्दिक के शरीर में 25 सुईयां है, जो कि बिना दर्द व अहसास के है। रायबरेली में डाक्टरों को दिखाने के बाद हार्दिग के माता पिता किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय इलाज के लिए चक्कर लगा रहे है। बाल शल्य विभाग प्रमुख डॉ एसएन कुरील ने शरीर से तीन सुईयां निकाल दी है। रायबरेली के मेजरगंज निवासी शिवेन्द्र के घर जब बेटे ने जन्म लिया, तब खुशियां मनायी जा रही थी, पर कुछ महीने बाद उसके मां ने मालिश के दौरान शरीर में पैर के पास चुभन सी महसूस की उसके शरीर से सुई निकल आई। जब उसके शरीर से सूई निकल रही थी तो मासूम को सुई की चुभन का अहसास तक नहीं हुआ। हार्दिक के माता पिता ने लखनऊ के केजीएमयू में बाल शल्य विभाग प्रमुख डॉ एसएन कुरील से संपर्क कर उको दिखाया, एक्स-रे देख डाक्टर भी आश्चर्य चकित थे।

Pin It