मां के जयकारों से गूंजे देवी मंदिर

  • नवमीं पर की गई मां सिद्धिदात्री की पूजा
  • घर-घर कराया गया कन्याभोज, दिए गए उपहार 

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
captureलखनऊ। शारदीय नवरात्र के अंतिम दिन नवमीं को मंदिरों में भक्तों ने मां सिद्धिदात्री की विधि विधान से पूजा-अर्चना की गई। इस मौके पर मां को प्रशन्न करने के लिए लोगों ने कन्याओं को भोजन कराया और दक्षिणा दी।
्रसोमवार को राजधानी के देवी मंदिरों में मां जगदम्बे के दिव्य स्वरूप मां सिद्धिदात्री की पूजा भक्ति भाव से गई। देवी दर्शन के लिए सुबह से यहां श्रद्धालुओं की कतारें लगी रहीं। इस मौके पर मंदिरों और घरों में हवन-यज्ञ भी किया गया। भक्तों ने मां भगवती से घर-परिवार की सुख-समृद्धि की कामना की। श्रद्धालुओं ने कन्याओं का पूजन कर उन्हें भोजन कराया। कन्याओं को कहीं दही-जलेबी खिलाया गया तो कहीं हलवा, पूरी और चने परोसे गए। घरों में कन्याओं को चुनरी ओढ़ाकर महाआरती भी की गई। श्रद्धालुओं ने कन्याओं को दक्षिणा और उपहार भी दिये। भक्तों ने मां भगवती से घर-परिवार की सुख-समृद्धि की कामना की। इसके पूर्व रविवार को महाअष्टïमी के मौके पर अनुष्ठानों की पूर्णाहुति दी गई। चौक के देवी मां के मंदिर में गुलाब, गेंदा और कमल के फूलों से श्रद्धालुओं ने मां का श्रृंगार किया। जबकि चन्द्रिका देवी मंदिर में अष्टमी पर माता को मेवे और मिश्री से भोग लगाया गया।

 

Pin It