महिला सुरक्षा में लापरवाही बर्दाश्त नहीं

Captureसुधरेगी यातायात व्यवस्था, हटेंगे लम्बे समय से एक ही थाने में जमे पुलिसकर्मी : एसएसपी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। महिलाओं की सुरक्षा के लिए सुप्रीम कोर्ट ने भी आदेश दिया है। ऐसे में यदि महिलाओं की सुरक्षा को लेकर कोई पुलिसकर्मी या महिला पुलिस लापरवाही बरतती है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी। महिलाओं के मामले में लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी। उक्त बातें नवनियुक्त एसएसपी राजेश कुमार पांडेय ने पत्रकारों को संबोधित करते हुये कही।
श्री पांडेय मंगलवार को राजधानी के एसएसपी पद का चार्ज सम्भालने के बाद पत्रकारों से रूबरू हुये। उन्होंने कहा कि कानून से बड़ा कोई नहीं है। सभी को इसके दायरे में रहकर काम करना चाहिए। राजधानी में बढ़ रहे अपराधों पर नियंत्रण और लंबे समय से स्थानान्तरण के बाद भी राजधानी में जमे हुये दारोगाओं और पुलिसकर्मियों को हटाया जायेगा। इसके साथ ही शहर में बिगड़ी यातायात व्यवस्था को पटरी पर लाने के साथ ही बुजुर्र्गों की सुरक्षा और किरायेदारों के सत्यापन के प्रति पुलिस सतर्क रहेगी।
अपनी कमियों की तलाश करें
श्री पांडेय ने देर रात अपने आवास पर जनपद के सभी एएसपी और सीओ की मीटिंग ली। उन्होंने अनसुलझी वारदातों की बिन्दुवार जानकारी ली। उन्होंने निर्देश दिये कि जिन घटनाओं का पर्दाफाश नहीं हुआ उसमें पहले अपनी कमियों की तलाश की जाये। कमियां उजागर होने पर सफलता मिल जायेगी।

सुलझेंगे अनसुलझे मामले, साइबर क्राइम पर रहेगा विशेष ध्यान
श्री पांडेय ने कहा कि पूर्व में हुये वारदातों का पर्दाफाश करना भी उनकी जिम्मेदारी है। इसके लिये टीम बनाई जायेगी और नये सिरे से जांच होगी। अनसुलझी वारदातों का पर्दाफाश किया जायेगा। एटीएम से किसी की गाढ़ी कमाई उड़ा लेना, महिलाओं से छिनौती, लूट और छेड़छाड़ की घटनाओं और पत्रकारों के साथ आए दिन हो रहे हमले की घटनाओं को गंभीरता से लिया जाएगा। साइबर अपराध से निपटने पुलिसकर्मियों को विशेष प्रशिक्षण दिलाया जाएगा।

Pin It