महिलाओं ने किया प्रदर्शन

Capture 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में लागू धारा 144 की धज्जियां उड़ाते हुए सोमवार को ‘नव्या ट्रस्ट महिला बिग्रेड’ के बैनर तले प्रदेश की सौकड़ों ग्रामीण महिलाओं ने विधान भवन के सामने जमकर हंगामा किया। गांवों की महिलाओं को मुफ्त ‘सेनेटरी नैपकीन’ मुहैया कराने समेत पांच सूत्रीय मांगों को लेकर महिलायें मुख्यमंत्री आवास की ओर बढ़ी तो पुलिस ने सभी को बैरीकेडिंग लगाकर रोक लिया। इससे नाराज प्रदर्शनकारी महिलायें पुलिस से उलझ गईं।
इस बीच देर तक पुलिस और महिलाओं में धक्का-मुक्की चली। जब महिलायेंं नहीं मानी तो पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर सबको सडक़ के एक किनारे कर दिया। पुलिस ने प्रदर्शन कारियों पर दबाव बनाने की नीयत से प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे संगठन के संस्थापक को गिरफ्तार कर लिया। इससे महिलाएं और अधिक नाराज हो गईं। वह बैरीकेडिंग तोडक़र सराकर विरोधी नारेबाजी करते हुए दोबारा आगे बढऩे लगीं। महिलाओं को खुद पर हावी होता देख पुलिस कर्मियों ने लाठी फटकारना शुरू कर दिया। प्रदर्शनकारी महिलाओं ने कहा कि प्रदेश की करीब चार करोड़ ग्रामीण महिलाओं व किशाोरियों को मुफ्त नैपकिन वितरण करने की योजना का लाभ सर्वे के बाद भी नहीं मिला रहा है। उधर, स्वास्थ्य विभाग ने भी इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया है। उन्होंने नैपकीन का ग्रामीण स्तर पर उत्पादन कराने, योजना का लाभ हेल्थ कार्ड के प्रति माह दिये जाने के साथ ही योजना में 95 प्रतिशत महिलाओं की भागीदारी की मांग उठाई है।

Pin It