महिलाओं को भी मिलना चाहिए बराबर का अधिकार

इन दिनों तीन तलाक को लेकर जमकर बहस छिड़ी हुई है। सुप्रीम कोर्ट में भी मामला पेंडिंग है। इसके चलते पत्नियों को भी तलाक का हक देने का प्रस्ताव दिया गया है। मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की महिलाओं को तलाक बोलने का हक है या नहीं। इस पर हमारी संवाददाता ऐश्वर्या गुप्ता ने जानी लखनऊवाइट्स की राय…5

Pin It