मलिहाबाद का मुजासा बना खुले में शौच मुक्त गांव

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। मलिहाबाद विकास खण्ड का मुजासा गांव राजधानी का पहला खुले में शौच मुक्त गांव बन गया है। इस गांव में रहने वाले सभी लोगों के घरों में शौचालय बन गया है। इसके साथ ही लोग शत प्रतिशत शौचालय का इस्तेमाल करने लगे हैं।
जिलाधिकारी राजशेखर के मुताबिक मलिहाबाद विकास खण्ड का मुजासा गांव जनपद का पहला खुले में शौच मुक्त (ओपन डिफिकेशन फ्री) गांव बन गया है। इस गांव में रहने वाले सभी 450 परिवारों ने अपने-अपने घरों में शौचालय बनवा लिया है। इसके साथ ही जिला पंचायत राज अधिकारी, एडीओ पंचायत मलिहाबाद, ग्राम पंचायत अधिकारी मुजासा, ग्राम प्रधान मुजासा और गांव के लोगों ने मिलकर मुजासा को शौच मुक्त गांव बनाने में हर संभव सहयोग दिया है। सीडीओ प्रशांत ने बताया कि इस गांव में सितंबर 2015 तक 70 शौचालय बने थे। इसके बावजूद भी गांव के लोग शौचालय का इस्तेमाल नहीं करते थे। इसलिए पंचायती राज विभाग के साथ वात्सल्य और वॉटर ऐड संस्था ने मिलकर गांव में लोगों को जागरूक करने के लिए अभियान चलाया। यहां कैम्प लगाकर लोगों को खुले में शौच करने के नुकसान के बारे में जानकारी दी। इसके साथ ही लोगों को शौचालय का इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित किया। तब जाकर गांव के सभी 405 घरों में शौचालय बनवाये गये और लोगों ने उसका उपयोग किया। उन्होंने कहा कि इसी अभियान के चलते चिनहट के पपनामऊ और माल के रायपुर गांव के लोगों की सोच बदली। अब रायपुर के सभी 205 और पपनामऊ के 350 घरों में टॉयलेट्स बन गये हैं। यहां के लोगों ने उनका उपयोग करना शुरू कर दिया है। फिलहाल प्रशासन का लक्ष्य जुलाई तक जनपद के 40 गांवों को खुले में शौच से मुक्त कराना है। इसके लिए व्यापक स्तर पर प्रयास किया जा रहा है।

Pin It