मतदाता सूची से निकाले जाएंगे डुप्लीकेट वोटरों के नाम

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए अभी से तैयारियां शुरू हो गई है। इसी की तैयारियों के संबंध में सोमवार को उप मुख्य निर्वाचन आयुक्त उमेश सिन्हा की अध्यक्षता में मुख्य निर्चाचन कार्यालय में बैठक हुई। इसमें मुख्य निर्वाचन अधिकारी अरुण सिंघल और डीएम राजशेखर समेत तमाम अधिकारी मौजूद रहे। इस दौरान एडीएम प्रशासन आरके पांडेय ने बताया कि जिले में अब तक करीब तीन लाख डुप्लीकेट वोटरों की पहचान की गई है। निर्वाचन आयोग के निर्देश के मुताबिक डुप्लीकेट वोटरों के नाम हटाए जाएंगे। इसके अलावा वोटरों की संख्या बढऩे पर पोलिंग बूथों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी।
निर्वाचन अधिकारियों के मुताबिक जिले की नौ विधानसभाओं में अब तक 3291 मतदान स्थल और और 1428 मतदान केन्द्र हैं। जिले में पिछले एक साल में करीब डेढ़ लाख वोटर बढ़े हैं। अब इनकी संख्या 34 लाख से अधिक हो गई है। उन्होंने कहा कि वोटरों के बढऩे से शहरी क्षेत्र में 175 और ग्रामीण क्षेत्रों में करीब 75 पोलिंग बूथ बढ़ाए जा सकते हैं। पुनरीक्षण अभियान के तहत वोटर लिस्ट में नाम जुड़वाने, कटवाने और सही करवाने के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन आवेदन किया जा सकता है।

Pin It