मंत्री के दौरे से खुल रही चिकित्सा व्यवस्था की पोल

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की रिपोर्ट राजधानी में चिकित्सा व्यवस्था को भले ही चाक चौबन्द दिखा रही हो लेकिन अस्पतालों में राज्य मंत्री रविदास मेहरोत्रा का दौरा होने पर हकीकत कुछ और नजर आ रही है। शहर में एक के बाद एक अस्पताल की कलई खुलती जा रही है। इतना ही नहीं मंत्री के औचक निरीक्षण में लगभग सभी अस्पतालों में अव्यवस्था मिल रही है। इसलिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के माथे पर चिन्ता की लकीरें नजर आने लगी हैं।
सूबे में परिवार कल्याण तथा मातृ शिशु कल्याण राज्य मंत्री रविदास मेहरोत्रा राजधानी के अस्पतालों की हकीकत जानने में जुटे हैं। अब तक चार अस्पतालों का दौरा कर चुके हैं। निरीक्षण में अस्पतालों की बदहाली पर खफा मंत्री कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का निर्देश भी दे चुके हैं लेकिन अस्पतालों में मंत्री की फटकार का कोई असर नहीं दिख रहा है। ये अलग बात है कि अस्पतालों के सीएमएस की मुश्किलें बढ़ गई हैं। रविदास मेहरोत्रा के मुताबिक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी, चन्दर नगर बाल महिला चिकित्सालय, महानगर स्थित भाउराव देवरस चिकित्सालय और लोकबंधु राजनारायण अस्पताल में अव्यवस्थाओं का अंबार मिला है। यहां चिकित्सकीय सेवाएं बेपटरी हैं । इमरजेंसी में कम मरीजों को भर्ती किया जाता है। जननी सुरक्षा योजना और फार्मेसी में भी गड़बड़ी का मामला आया है। वहीं फार्मेसी का स्टाक मेनटेन नहीं है। इसलिए डॉ. मंजू राठौर के खिलाफ जांच के आदेश दिए गए हैं।

Pin It