मंत्री की फटकार के बाद भी नहीं सुधरी क्वीन मेरी अस्पताल की व्यवस्था

  • नवजात के ऊपर पंखा गिरने से लोगों में भय

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय (केजीएमयू) से सम्बद्ध बाल एवं महिला चिकित्सालय क्वीनमेरी में भर्ती एक सप्ताह की नवजात बच्ची पर मंगलवार को पंखा गिर गया। इस हादसे में बच्ची के सिर पर गंभीर चोट लगी। बच्ची को ट्रामा सेन्टर के न्यूरो सर्जरी विभाग में भर्ती कराया गया है। बच्ची की हालत गंभीर बनी हुई है। वहीं केजीएमयू के प्रशासनिक अधिकारियों की लापरवाही क्वीन मेरी अस्पताल में भर्ती एक नवजात की जान पर भारी पड़ रही है।
क्वीनमेरी की हालत में बिल्कुल भी सुधार नहीं हो रहा है। जबकि परिवार कल्याण राज्य मंत्री रविदास मेहरोत्रा के निरीक्षण में मिली खामियों के बाद व्यवस्था सुधारने के निर्देश दिये थे। इसके बाद भी क्वीन मेरी अस्पताल प्रमुख डॉ. विनीता दास तथा केजीएमयू के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एससी.तिवारी ने मंत्री के निर्देशों को हवा में उड़ा दिया। जिसके चलते मंगलवार को यहां एक बड़ा हादसा हो गया। इस हादसे में घायल नवजात जिंदगी की जंग लड़ रही है। बालागंज निवासी सैयदा के नवजात शिशु के सिर पर छत से अचानक पंखा नीचे गिरा, उसका एक भाग टकरा गया । इससे शिशु के सिर में गंभीर चोट आयी है। शिशु को आनन-फानन में ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है। बताया जाता है सिटी स्कैन में सिर में चोट बतायी गयी है लेकिन इसे डॉक्टर ने खुलासा नहीं किया है। उनका कहना है कि शाम को फिर सिटी स्कैन होने के बाद ही स्पष्ट हो सकेगा। गौरतलब हो कि लखनऊ के बालागंज निवासी सईदा को 3 अगस्त को क्वीनमेरी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अस्पताल में ही सईदा ने बच्ची को जन्म दिया। अभी अस्पताल से उसकी छुट्टी नहीं हुई थी। इसलिए सइदा और उसकी बेटी क्वीन मेरी के जनरल वार्ड में भर्ती थे। हादसे के वक्त बच्ची बेड पर अकेली सो रही थी।

Pin It