भावुक हुए मुलायम, बोले अब मेरे पास बचा ही क्या है

रामगोपाल यादव पर बेटे और बहू को बचाने के लिए भाजपा से मिलने का लगाया आरोप
कहा भाजपा के इशारे पर काम कर रहे रामगोपाल तोडऩा चाहते हैं सपा को

capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव का दर्द बुधवार को पार्टी कार्यालय पर कार्यकर्ताओं और मीडिया के सामने छलक उठा। मुलायम सिंह ने रुंधे गले से कहा कि अब मेरे पास बचा ही क्या है। मेरा जो कुछ भी था, मैंने वो सब अखिलेश को दे दिया। अब न तो पार्टी टूटेगी और न ही पार्टी सिंबल को लेकर कोई लड़ाई है। लेकिन इतना जरूर कहना चाहूंगा कि पार्टी तोडऩे के लिए सीधे तौर पर रामगोपाल यादव जिम्मेदार हैं। वह अपने बेटे और बहू को बचाने के लिए भाजपा के साथ मिलकर सपा को तोडऩे की साजिश रच रहे हैं। इसीलिए रामगोपाल ने अखिल भारतीय समाजवादी पार्टी बनाने और मोटरसाइकिल चुनाव निशान के साथ चुनाव मैदान में उतरने का फैसला लिया, लेकिन उनकी मंशा पूरी नहीं होगी। मेरे रहते पार्टी कभी नहीं टूटेगी।
सपा कार्यालय पर मुलायम सिंह यादव और शिवपाल दोनों भाइयों ने कार्यकर्ताओं की बातें सुनीं और उनके सवालों का जवाब देने के साथ ही पार्टी नहीं टूटने का भरोसा दिलाया। नेताजी ने कहा कि रामगोपाल अपने बेटे और बहू को बचाने के लिए दूसरे दल के दबाव में पार्टी तोड़ रहे हैं। रामगोपाल चार बार दूसरी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष से मिल चुके हैं। तीन बार मिलने की बात तो पूरे देश को पता है। चौथी मुलाकात के बारे में भी मुझे पता है। हमसे कहा होता, तो हम बचा लेते। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि पार्टी को टूटने नहीं दूंगा। मैं पार्टी में एकता चाहता हूं। मुलायम ने कार्यकर्ताओं को संदेश दिया कि उनके और सीएम अखिलेश के बीच कोई विवाद नहीं है। नेताजी ने कहा कि मैंने अखिलेश से कहा तू इसके (रामगोपाल) चक्कर में क्यों है। तू किसी भी तरह के विवाद में मत पडऩा, विवाद में पडऩा ही होगा, तो हम पड़ेंगे।

Pin It