भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने लडक़ी के कपड़े उतरवा कर देखे उसके जख्म

  • मुलायम के गढ़ में साक्षी महाराज ने पुलिस को दी धमकी, कहा गोली से मिलेगा जवाब 
  • शिवसेना ने साक्षी के बयान और करतूत पर जताई कड़ी आपत्ति
  • अक्सर अपने बेतुके बयानों को लेकर रहते हैं साक्षी महाराज चर्चा में

5 May page114पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। डकैती, चार सौ बीसी तथा हत्या करने जैसे गंभीर धाराओं में जिसके खिलाफ मुकदमें दर्ज हों। जो गेरूए वस्त्र पहनता हो और भाजपा का सांसद हो तो क्या आप कल्पना कर सकते हैं कि वे सार्वजनिक रूप से एक लडक़ी के जख्म देखने के लिए उसके कपड़े उतरवा सकता है, मगर भाजपा सांसद साक्षी महाराज ऐसा कर सकते हैं और उन्होंने मैनपुरी में ऐसा करके भी दिखा दिया। मैनपुरी के गांव फरदपुर में उन्होंने एक लडक़ी के जख्म देखने के लिए सार्वजनिक रूप से न सिर्फ उसके कपड़े उतरवाए बल्कि पुलिस को धमकाते हुए उसे गोली मारने की धमकी दी। विपक्ष ने साक्षी महाराज को बर्खास्त करने के लिए सीधे प्रधानमंत्री मोदी पर हमला बोला तो दूसरी तरफ पुलिस ने भी उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।
अक्सर अपने बयान को लेकर चर्चा में रहने वाले साक्षी महाराज इस बार अपनी हरकत को लेकर चर्चा में हैं। फरदपुर गांव में पुलिस की भाजपा कार्यकर्ता के घर पर का कार्रवाई को लेकर नाराज साक्षी महाराज फरदपुर पहुंचे थे। उन्होंने पीडि़त परिवार के जख्मों पर मरहम लगाना शुरू किया। लेकिन इन सबके बीच पीडि़ता के जख्म देखने के नाम पर उसे नंगा करवा दिया। सांसद महोदय को इतना भी ध्यान नहीं रहा कि पीडि़ता के साथ शिष्टाचार के मर्यादा में ही हालचाल पूछते। इन सबसे अलग साक्षी महाराज ने आम लोगों के सामने ही पूरा पड़ताल करना शुरू कर दिया। इससे एक बार फिर पीडि़ता को सामूहिक रूप से असहज स्थिति का सामना करना पड़ा। इसके साथ ही साक्षी महाराज ने पुलिस के खिलाफ भी जहर उगला। दरअसल सांसद साक्षी फरदपुर में पुलिस द्वारा बच्चों और महिलाओं की पिटाई से खफा थे। साक्षी ने पुलिस को धमकाते हुए कहा कि दरोगा, सिपाही या किसी भी पुलिस वाले ने बदतमीजी की तो वो एक-एक से बदला लेने की ताकत रखते हैं।

यह बेहद शर्मनाक कृत्य है। चूंकि यह चुनावी वर्ष है, इसलिए ऐसी हरकतें प्रदेश में दंगा भडक़ाने की साजिश भी हो सकती हैं। इसलिए मामले को तुरंत संज्ञान में लेकर प्रदेश सरकार को साक्षी महाराज के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।
-अशोक सिंह, प्रवक्ता, कांग्रेस

यह कृत्य बेहद निंदनीय है। एक सांसद को इस तरह का व्यवहार शोभा नहीं देता। वह कोई डॉक्टर नहीं हैं। महिलाओं के जख्मों की जांच डॉक्टर को करनी चाहिये न की किसी सांसद को। इस मामले में जो भी दोषी पाया जायेगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।
-अशोक बाजपेयी, वरिष्ठï सपा नेता

ये बेहद शर्मनाक घटना है। ऐसे व्यक्ति को राजनीति या सार्वजनिक जीवन में रहने का कोई हक नहीं है। गेरूआ कपड़े पहनकर महिलाओं के प्रति यह नजरिया उनकी खराब मानसिकता का परिचायक है।
-ब्रजेश पाठक, पूर्व सांसद बसपा

भाजपा सांसद साक्षी महाराज की करतूत पूरी भाजपा की मानसिकता दर्शाता है। हकीकत यह है कि पीएम मोदी खुद साक्षी जैसे लोगों को आगे बढ़ाते हैं, जिससे समाज में आपसी मनमुटाव बढ़ता रहे। अगर पीएम के मन में महिलाओं के प्रति जरा भी सम्मान है तो वह तत्काल साक्षी महाराज को पार्टी से बर्खास्त करें।
-वैभव महेश्वरी, प्रवक्ता आम आदमी पार्टी
बेतुके बोल से रहते हैं चर्चा में साक्षी
उन्नाव से बीजेपी के सांसद सच्चिदानंद हरि साक्षी उर्फ साक्षी महाराज अक्सर अपने बेतुके बयानों को लेकर चर्चा में रहते हैं। कभी मोदी को भगवान तो कभी आरएसएस को सबकुछ बताकर वह अपने को मीडिया हाइप देते रहते हैं। हाल ही में उनके इन्हीं बेतुके बोल को लेकर उन्हें अल-कायदा ने जान से मारने की धमकी दी थी। बाकायदा उन्हें चिट्ठी भी भेजी गई थी। इससे पहले भी वह जम्मू कश्मीर के निर्दलीय विधायक शेख अब्दुल रशीद को पीटने को सही बताने वाले उनके बयान के आधार पर धमकी दी गई है। शेख रशीद को दिल्ली में पीटा गया था। साक्षी महाराज आए दिन अपने बयानों की वजह से चर्चा में रहते हैं। उन्होंने बीते दिनों ये भी कहा था कि जिसे बीफ खाना हो, वह पाकिस्तान जाकर रह सकता है। इसके अलावा उन्होंने ये भी कहा था कि पैगंबर मोहम्मद सच्चे योगी थे। सांसद ने खुद को सच्चा मुसलमान भी बताया था। इससे पहले उन्होंने ये भी कहा था कि अगर हम अल्लाह हो अकबर बोल सकते हैं तो यूपी के कैबिनेट मंत्री आजम खान जय श्री राम क्यों नहीं बोल सकते?

Pin It