भाजपा सरकार के दमन चक्र से युवा आक्रोशित: अखिलेश यादव

भाजपा सरकार के दमन चक्र से युवा आक्रोशित: अखिलेश यादव

अफसरशाही के बीच चल रही लूट लो की प्रतिस्पर्धा
हवा-हवाई निकला गड्ढामुक्त सडक़ों का दावा
अपराधी बेखौफ, महिलाएं भी असुरक्षित

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा है कि प्रदेश में भाजपा सरकार के मुख्यमंत्री ठोक दो की नीति पर चल रहे हैं तो अफसरशाही के बीच लूट लो की प्रतिस्पर्धा शुरू हो गई है। सत्तादल के विधायक अपनी ही सरकार के पोल खोल अभियान में लगे हैं। लहूलुहान यूपी पर मुख्यमंत्री का ‘ट्रांसफर मरहम‘ धोखा है और भ्रष्टाचार पर जीरों टालरेंस का उनका दावा जनता को सिर्फ बहकाने के लिए है। एक जिले में अपराध रोकने में विफल कप्तान दूसरे जिले में जाकर कैसे बदल जाएगा और सब कुछ नियंत्रित कर लेगा? जब राज्य के सचिवालय से ही भ्रष्टाचार और ठगी का काम चलता हो तो फिर भाजपा सरकार का खुद का जीरो रिजल्ट आना स्वाभाविक है। जनता त्राहि-त्राहि कर रही है। भाजपा सरकार संवेदनशून्य होकर बैठी है। उसके दमन चक्र से युवा आक्रोशित है। लोगों को अब सत्ता परिवर्तन का इंतजार है।
उन्होंने कहा कि कोरोना संकट के दौर में अफसरशाही का एक वर्ग लूट में लग गया है। गाजीपुर-सुल्तानपुर में अधिक मूल्य पर किट खरीद का मामला तूल पकड़ रहा है। उन्नाव में कंपोजिट ग्रांट में घोटाला के बाद कोविड किट में कमीशनबाजी का खेल हो गया। यहां भी दोगुने से ज्यादा दामों पर किटें खरीदी गई। सहारनपुर में ऐसे ही एक गोरखधंधे की पोल भाजपा नेता ने खोली है। चरखारी से भाजपा विधायक ने भ्रष्टाचार पर रोक न लगने से तंग आकर खुले तौर पर खनन गाडिय़ां फूंकने की धमकी दे दी है। किसी विधायक को अपनी विधायकी पर शर्म आने लगी है तो कोई मायूस होकर बैठ गया है।
उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने सडक़ों को गड्ढामुक्त करने का ऐलान किया था। अब वह उसे जानबूझकर भूल रही है क्योंकि पुराने गड्ढे तो पटे नहीं, सडक़ें ही गड्ढों में तब्दील हो गई हैं। विभागीय मंत्री अब उधर देखते ही नहीं। मुख्यमंत्री के वीवीआईपी जनपद गोरखपुर से प्रधानमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी तक सडक़ निर्माण का कार्य दो साल लेट चल रहा है। राजधानी लखनऊ में पुल और फ्लाईओवर कब बनकर तैयार होंगे, यह कोई अधिकारी-मंत्री बताने वाला नहीं है। उन्होंने कहा कि सम्पूर्ण उत्तर प्रदेश में अपराधी बखौफ होकर अपने काले धंधों को अंजाम दे रहे हैं। महिलाओं, बच्चियों की इज्जत थानों में भी सुरक्षित नहीं। शीर्ष पर बैठे अफसरों के नाम अवैध संबंधों में उछल रहे हैं।

पुलिस भर्ती के मेडिकल में पास कराने के नाम पर ठगी करने वाला गैंग दबोचा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
अलीगढ़। पुलिस भर्ती परीक्षा में पास कराने के नाम पर ठगी करने वाले गैंग के सरगना समेत छह सदस्यों को सिविल लाइन पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेजा है। आरोपी कई लोगों से लाखों रुपये की ठगी कर चुके हैं। एसपी क्राइम ने बताया कि संगठित गिरोह में अन्य सदस्यों के भी नाम प्रकाश में आए हैं, जिनकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।
पुलिस लाइन में शुक्रवार को एसपी क्राइम अरविंद कुमार ने बताया कि पुलिस लाइन में पुलिस भर्ती के लिए मेडिकल बोर्ड अभ्यर्थियों की जांच कर रहा है। पिछले दिनों शिकायत मिली कि पुलिस भर्ती के मेडिकल में पास कराने के नाम पर कुछ लोगों से ठगी कर ली गई है। सिविल लाइन थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया। इंस्पेक्टर प्रमेंद्र कुमार की टीम ने गैंग के सरगना राजकुमार पंडित निवासी छैछऊ, इगलास, अमित निवासी प्रहलादपुर, सोनू चौधरी निवासी तालानगर, पुष्पेंद्र कुमार निवासी नयावास गौंडा, कैलाश कुमार, पवन कुमार निवासी छैछऊ इगलास को जेल रोड पुल के नीचे से गिरफ्तार कर लिया। आरोपी पुलिस भर्ती परीक्षा में मेडिकल करा रहे अभ्यर्थियों व उनके अभिभावकों को पास कराने के नाम पर ठग रहे थे। आरोपी के पास से 12 हजार रुपये, फर्जी मेडिकल बुलावा पत्र, हाईस्कूल, इंटरमीडिएट की मार्कशीट, चरित्र प्रमाण पत्र, जाति व निवास प्रमाणपत्र,आधार कार्ड, शपथपत्र, भर्ती बोर्ड का कॉल लेटर, पांच मोबाइल फोन, स्टैंप, पैड आदि बरामद हुए हैं। आरोपी ने बताया कि अब तक कई लोगों को ठगी का शिकार बनाकर मोटी रकम ऐंठ चुके हैं। इस रकम से ऐश-मौज करते थे। एसपी क्राइम ने बताया कि संगठित गिरोह में अन्य सदस्यों के भी नाम प्रकाश में आए हैं, जिनकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *