ब्राह्मणों की आंखों में धूल झोंक रही कांग्रेस: मायावती

  • बसपा ने सबसे अधिक ब्राह्मण समाज को दिया सम्मान

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। बीएसपी प्रमुख मायावती ने शीला दीक्षित को यूपी में मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करने पर जोरदार प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि शीला दीक्षित को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करके कांग्रेस ब्राह्मण समाज की आंखों में धूल झोंकना चाहती है। हकीकत में सिर्फ बीएसपी ने ही ब्राह्मणों को सम्मान दिया है। घोटालों की आरोपित वयोवृद्ध कांग्रेसी नेता शीला दीक्षित को सीएम फेस बनाने से ब्राह्मण समाज प्रभावित होने वाला नहीं है। इससे चुनाव में कांग्रेस को कोई लाभ नहीं मिलेगा। कांग्रेस सत्ता में आना तो दूरए सत्ता के करीब भी नहीं पहुंचने वाली।
मायावती ने शीला दीक्षित पर आरोप लगाया कि उन्होंने दिल्ली के विकास के नाम पर दलितों, पिछड़ों के कल्याण का बजट गैर जरूरी कामों में खर्च किया। साथ ही कॉमनवेल्थ गेम्स में भ्रष्टाचार के कई मामले उन पर लंबित हैं। दिल्ली के भ्रष्टाचार विरोधी ब्यूरो ने तो हाल ही में जल बोर्ड के टैंकर खरीद घोटाले के मामले में उन्हें समन जारी किया है। उन्होंने कहा कि शीला दीक्षित को मुख्यमंत्री उम्मीदवार और राजबब्बर को अध्यक्ष बनाने से साफ है कि कांग्रेस के पास कोई नेता नहीं है। मायावती ने कहा कि प्रदेश में ब्राह्मण उपेक्षा का शिकार रहा है। कांग्रेस हो या फिर बीजेपी या समाजवादी पार्टी। सभी ने ब्राह्मणों की उपेक्षा की है। ऐसे विकट समय में बीएसपी ही अकेली पार्टी है, जिसने अपर कास्ट और खासकर ब्राह्मण समाज को संगठन और सरकार में पूरा सम्मान दिया है। चुनाव में भी काफी संख्या में ब्राह्मणों को टिकट दिया है।

Pin It