बैंक मैनेजर की प्रताडऩा से तंग आकर परिवार ने किया सुसाइड

जहर खाकर दी जान, बैंक लोन से थे परेशान

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के मडिय़ांव थाना क्षेत्र में बैंक मैनेजर की प्रताडऩा से तंग आकर एक परिवार के तीन लोगों ने जहर खाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। सूचना पाकर एएसपी ट्रांसगोमती जयप्रकाश, थानाप्रभारी मडियांव संतोष कुमार सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और घर का दरवाजा तोडक़र शवों को पोस्टमॉर्टम के लिये भेज दिया। मृतक के भाई ने बैंक मैनेजर पर प्रताडऩा का आरोप लगाया है। इसके आधार पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
मूलरूप से सीतापुर जिले के रसूलाबाद सदर के रहनेवाले इन्द्रप्रकाश वर्मा (35) अपनी पत्नी कल्पना वर्मा (28) और बेटा रोहिताश वर्मा (11) के साथ मडिय़ांव थानाक्षेत्र के सेमरा इलाके में रहते थे। इन्द्रप्रकाश की सीतापुर रोड पर जेजे मार्केट में परचून की दुकान है। पड़ोसियों के मुताबिक, दो दिनों से दंपत्ति एवं बेटा मोहल्ले में नहीं दिखे तो आसपास के लोगों को चिंता हुई और खैरियत लेने के लिए मंगलवार को दोपहर बाद इन्द्रप्रकाश के घर के पास पहुंचे तो मकान में भीतर से दरवाजा बंद मिला। यह देख पड़ोसियों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना पाकर मौके पर इंस्पेक्टर संतोष कुमार सिंह पहुंचे और मकान का दरवाजा तोडक़र घर के भीतर दाखिल हुए। जहां इंस्पेक्टर को इन्द्रप्रकाश बेड पर एवं उसकी पत्नी कल्पना एवं बेटे रोहिताश एक जगह जमीन में मृत पड़े मिले। तीनों के मुंह पर झाग जैसा निकला हुआ था। जिसके बाद इंस्पेक्टर ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिये भेज दिया।
इस मामले पर मृतक के छोटे भाई सूर्यप्रकाश वर्मा ने बताया इन्द्रप्रकाश ने दो साल पहले इंदिरानगर स्थित एचडीएफसी की शाखा से दो लाख रुपये का लोन लिया था। उनके प्लाट के कागजात बैंक में जमा थे। पिछले कई दिनों से बैंक का मैनेजर मडिय़ांव के रहने वाले एक दबंग की मदद से प्रताडि़त कर रहा था। दो दिन पहले उसने जेल भेजवाने की धमकी दी थी। इसी बजह से उसके भाई, भाभी और भतीजे ने जहर खा कर जान दे दी।

Pin It