बेनी को है अपने बेटे के भविष्य की चिंता, हो सकते हैं भाजपा में शामिल

यूपी सरकार में जेल मंत्री रहे हैं बेनी के बेटे राकेश वर्मा
कांग्रेस में घटती साख से परेशान हैं बेनी

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ । कभी मुलायम सिंह यादव के काफी करीबी रहे बेनी प्रसाद वर्मा अब भटकने लगे हैं। वह सपा छोडक़र कांग्रेस में गए, वहां केंद्रीय मंत्री भी रहे, लेकिन अब उन्हें अपनी नहीं, बल्कि अपने बेटे के भविष्य की चिंता सता रही है। यही वजह है कि वह कांग्रेस छोडऩे की तैयारी कर रहे हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, अमित शाह की हरी झंडी मिली तो जल्द ही वह भाजपा में जा सकते हैं।
बेनी प्रसाद वर्मा जब समाजवादी पार्टी में थे, उस समय उनके बेटे राकेश वर्मा जेल विभाग के कैबिनेट मंत्री थे। इसके बाद जब वह कांग्रेस में गए तो उनको इस्पात मंत्रालय मिल गया, लेकिन उनके बेटे या परिवार के किसी भी सदस्य को कुछ भी नहीं मिला। इसकी वजह से उनके बेटे राकेश का भविष्य चौपट हो रहा है। वह विधानसभा चुनाव भी हार गए थे। इसके बाद लोकसभा चुनाव में बेनी की हालत भी काफी खराब रही है।
बताया जाता है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की कोर टीम में रहने वाले पूर्व केन्द्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा हाशिये पर चल रहे हैं। उनके गढ़ बाराबंकी में भी उन्हें कमजोर किया जा रहा है। इसको लेकर वह मंथन कर रहे हैं। कभी मोदी और भाजपा को पानी-पी-पी कर कोसने वाले बेनी को अब भाजपा में सब अच्छा दिखने लगा है।
बेनी ने हाल ही में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की जमकर तारीफ की थी। उन्होंने कहा कि केन्द्र में मोदी के नेतृत्व में सरकार बनने के बाद भ्रष्टाचार में काफी कमी आई है और देश में असहिष्णुता तो कहीं भी नहीं है। वहीं भ्रष्टाचार के मुद्दे पर प्रदेश की सपा सरकार को घेरते हुए उन्होंने कहा कि यूपी में भ्रष्टाचार बढ़ा है। हालांकि, बेनी ने अभी इस संबंध में कुछ नहीं कहा है, लेकिन अटकलें लगाई जा रही हैं कि वो फरवरी के अंत में पार्टी बदलेंगे।

Pin It