बेटी पढ़ेगी तो देश आगे बढ़ेगा: राज्यपाल

  • अंतरराष्टरीय महिला दिवस पर राज्यपाल ने किया महिलाओं को सम्मानित

    4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
    Captureलखनऊ। उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने संगीत नाटक अकादमी में आयोजित महिला दिवस के कार्यक्रम कई महिलाओं को ‘वीरांगना सम्मान’ से सम्मानित किया। यहां राज्यपाल ने महिला दिवस की बधाई देते हुए कहा कि समाज महिलाओं की क्षमता को पहचानकर उन्हें आगे बढ़ाने का काम करे। संकल्प के साथ लड़कियों को लडक़ों के बराबर शिक्षा दें। बेटी पढ़ेगी तो देश आगे बढ़ेगा। महिलाओं को उचित संरक्षण की जरूरत है। उन्होंने कहा कि महिलाओं को सुविधापूर्ण वातावरण एवं सुरक्षा देने की जिम्मेदारी समाज और सरकारों की है।
    श्री नाईक ने कहा कि यह सच्चाई है कि मुक्त एवं सुरक्षित वातावरण में स्पर्धा होती है तो बेटिया आगे बढ़ती हैं। ईमानदारी, पारदर्शिता, मेहनत एवं लगन महिलाओं के डीएनए में है। महिलाएं अपना काम ज्यादा सजगता से करती हैं। उन्होंने कहा कि आज महिलाएं हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं। राज्यपाल ने कहा कि वे 25 विश्वविद्यालयों के कुलाधिपति हैं। अब तक राज्य विश्वविद्यालयों में संपन्न हुए दीक्षान्त समारोह में 6,35,930 विद्यार्थियों को उपाधियां वितरित की गई जिनमें 40 प्रतिशत छात्राएं थी। उन्होंने कहा कि महिला सशक्तिकरण की दृष्टि से यह शुभ संदेश है। इस अवसर पर कार्यक्रम की संयोजिका रीता सिंह ने स्वागत उद्बोधन देते हुए अपने विचार रखें। यहां राज्यपाल ने डॉ. मधु भदौरिया नेत्र विशेषज्ञ, सुनीता ऐरन सम्पादक हिन्दुस्तान टाईम्स, दीपाली तिवारी वल्र्ड बैंक में कार्यरत, समता कुमारी रेल चालक, फरजाना चित्रकार को अपने-अपने क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए शाल, स्मृति चिन्ह व पुष्प गुच्छ देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष जरीना उस्मानी, लखनऊ के महापौर डॉ दिनेश शर्मा, कार्यक्रम की संयोजिका एवं उत्तर प्रदेश बाल विकास परिषद की अध्यक्ष रीता सिंह सहित अन्य स्वयं सेवी संस्थाओं के पदाधिकारी एवं सदस्य उपस्थित थें।

Pin It