बीबीएयू छात्रों ने स्कॉलरशिप के लिए किया प्रदर्शन

  • उपकुलपति को छात्रों ने सौंपा ज्ञापन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। बीबीएयू के 30 छात्र दो वर्षों से अपनी स्कॉलरशिप को लेकर विश्वविद्यालय और यूजीसी ऑफिस के चक्कर लगा रहे हैं। यूजीसी की तरफ से इन छात्रों को राहत तो दे दी गई है लेकिन विवि ने इन छात्रों को स्कॉलशिप देने के बजाय वेरीफिकेशन के चक्कर में फंसा रखा है। इस संबंध में जब आईसा कार्यकर्ता विवि पहुंचे तो उन्हें विवि में घुसने नहीं दिया गया, जिससे लेकर आइसा कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन कर विवि के उपकुलपति को ज्ञापन सौंपा।
छात्रों का कहना है कि हम लोगों ने अब तक चार से पांच बार डाक्युमेंट वेरीफिकेशन कराया है, लेकिन विवि प्रशासन ने प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के बजाए रोक रखा हैं। अधिकतर छात्र ऐसे हैं जो इन स्कॉलरशिप के भरोसे ही पढ़ाई करते हैं। ऐसी स्थिति में स्कॉलरशिप न मिलने के कारण विवि से पूरी फीस जमा करने का दबाव बनाया जा रहा है। हम लोगों ने इसकी शिकायत एमएचआरडी में भी की है लेकिन अब तक वहां से भी हम लोगों को राहत नहीं मिली है। इन मागों को लेकर आइसा के छात्र कार्यकर्ताओं ने पहले भी विवि को ज्ञापन दिया था। वहीं जब दोबारा आइसा के कार्यकर्ता विवि कुलपति से मिलने पहुंचे तो उन्हें गेट पर ही रोक दिया गया। इसके विरोध में आइसा कार्यकर्ताओं ने विवि प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन कर आइसा के प्रदेश उपाध्यक्ष पूजा शुक्ला ने छात्रों को उनकी स्कॉलरशिप जल्द से जल्द देने के लिए ज्ञापन सौंपा।

यह है पूरा मामला

बीबीएयू के 22 से अधिक छात्रों की फेलोशिप विश्वविद्यालय प्रशाशन ने रोक रखी है छात्रो को फण्ड न आने की बात कहकर दो साल से छात्रो को रोजाना परेशान किया जा रहा है इस संबंध में यूजीसी ने सूचित किया है कि उसके द्वारा तीन बार विवि को नोटिस दिये जाने के बावजूद विवि छात्रों का डाटा नहीं भेज रहा है, जिसके चलते डीबीटी(डायरेक्ट बैंक ट्रांसफर) के तहत छात्रों को पैसा नहीं भेजा जा पा रहा। इस संबंध में विवि के द्वारा छात्रों को भुगतान देय है,जबकि विवि संबंधित छात्रों को दो साल से टरका रहा है। आज आइसा के माध्यम से छात्रों ने इस संबंध में कुलपति को ज्ञापन सौंपा गया था। छात्र नईम अहमद सहित अन्य छात्रों ने बताया कि इस संबंध में रजिस्ट्रार ने सोमवार तक का आश्वासन दिया है।

Pin It