बीजेपी नेता के ट्रस्ट ने दाखिले के लिए ‘भारत माता की जय’ लिखना किया जरूरी

दाखिला केवल उन्हें ही दिया जाएगा जो प्रवेश पत्र पर भारत माता की जय लिखेंगे: दिलीप संघानी

अहमदाबाद। बीजेपी नेता दिलीप संघानी के ट्रस्ट ने गुजरात में अपने शिक्षण संस्थानों में प्रवेश पाने को इच्छुक विद्यार्थियों के लिए आवेदन पत्र में ‘भारत माता की जय’ लिखना अनिवार्य बना दिया है, जिससे इस नारे पर विवाद बढ़ गया है। ट्रस्ट के अनुसार जो विद्यार्थी ऐसा नहीं करेंगे, उन्हें प्रवेश नहीं दिया जाएगा।
अमरेली स्थित श्री पटेल विद्यार्थी आश्रम न्यास के इस निर्देश की कांग्रेस ने कड़ी आलोचना की है। वरिष्ठ वकील गिरीश पटेल ने कहा कि यह शिक्षा के अधिकार समेत कई मौलिक अधिकारों का उल्लंघन करता है। यह ट्रस्ट क्षेत्र में दो हाईस्कूल, एक प्राथमिक स्कूल और एक कॉलेज चलाता है, जहां 1500 से अधिक बच्चों को दाखिला मिलता है। न्यास की स्थापना करीब एक सदी पहले संघानी के पूर्वजों ने की थी।
इस फैसले को सही ठहराते हुए संघानी ने कहा कि खासकर दिल्ली में जेएनयू परिसर में कथित रूप से भारत विरोधी नारे लगाए जाने के बाद विद्यार्थियों के बीच राष्ट्रभक्ति की भावना को पुनर्जागृत करने का समय आ गया है। हमें बच्चों में राष्ट्रभक्ति के मूल्यों को स्थापित करना है। हमने तय किया है कि दाखिला केवल उन्हें ही दिया जाएगा जो प्रवेश पत्र पर यह नारा लिखेंगे। जो प्रवेश चाहते हैं उन्हें देश के प्रति अपनी कटिबद्धता दिखानी ही होगी। गुजरात कांग्रेस प्रवक्ता मनीष दोषी ने इसे मूल मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाने की बीजेपी की कोशिश बताया है।

Pin It