बिना फार्मासिस्ट मेडिकल स्टोर पर बिक रही दवाएं

  • एफडीए की छापेमारी में मिलीं प्रतिबंधित दवाएं

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। राजधानी में खुलेआम मानकों को ताक पर रखकर प्रतिबंधित दवाओं की बिक्री की जा रही है। मेडिकल स्टोर पर बिना फार्मासिस्ट के दवाओं की बिक्री की जा रही है। इस बात का खुलासा खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन की औषधि इकाई की छापेमारी में हुआ। टीम के सदस्यों ने गुरुवार को डीआईजी डीपी श्रीवास्तव के निर्देश पर चारबाग में छापेमारी की गई।
औषधि निरीक्षक संजय व रमा शंकर ने बताया कि चारबाग स्थित गणेश मेडिकल स्टोर पर छापा मारा गया। इस दौरान नशे की प्रतिबंधित दवाइयां मिलीं। इसमें इंजेक्शन फोर्टविन, एविल, ब्रूफो, नारफिन आदि बरामद की गईं। उक्त दवाओं के क्रय-विक्रय का लेखा-जोखा भी दुकान स्वामी के पास मौजूद नहीं था। दवा दुकान में रखरखाव में अनियमितता को लेकर अधिकरियों ने सख्त कार्रवाई का निर्णय लिया है। औषधि निरीक्षकों के मुताबिक एक गोपनीय पत्र से सब्जी मंडी रोड चारबाग स्थित गणेश मेडिकल स्टोर पर नारकोटिक्स को प्रतिबंधित दवाओं की बिक्री की सूचना मिली थी। इस पर एफएसडीए की औषधि इकाई के डीआइजी डॉ.डीपी श्रीवास्तव के निर्देशन में ड्रग निरीक्षक संजय यादव और रमाशंकर की टीम ने मेडिकल स्टोर पर छापा मारा। छापे में पांच से ज्यादा प्रतिबंधित दवाएं मिलीं, जिनकी बिक्री पर अरसे से रोक लगी हुई है। जो दवाएं यहां मिली हैं उनमें से खांसी के सीरप कोरेक्स, एलर्जी की दवा एविल, इंजेक्शन फोर्टविन व ब्रूफो, नॉरफिन आदि नशे के उपयोग में ली जाने वाली दवाएं मिली। इन दवाओं की कीमत 12,000 से ज्यादा थी। वहीं ड्रग निरीक्षक की ओर से इन दवाओं के क्रय रिकार्ड मांगे जाने पर दुकान मालिक इसके कोई कागज नहीं दिखा पाए। इसके अलावा स्टोर से चार दवाओं के नमूने भी लिए हैं। मेडिकल स्टोर पर कोई भी फार्मासिस्ट भी मौजूद नहीं था।

Pin It