बिजली न मिलने से एकल सिनेमा उद्योग ने दम तोड़ा

लखनऊ । राज्य में एकल सिनेमा की बन्दी का मुख्य कारण अबाध विद्युत आपूर्ति का न होना है, जेनरेटर से सिनेमा संचालन का आर्थिक तौर पर फायदा नहीं मिल पाता है। इसमें मनोरंजन कर की अधिक दर सिनेमा उद्योग को तोड़ देती है। एकल सिनेमाओं के निर्माण के लिये शासन द्वारा कोई प्रोत्साहन योजना भी नहीं है और बंद हो चुके सिनेमाओं को फिर से शुरू करने के लिए वर्ष 2005 के बाद से कोई प्रोत्साहन योजना भी नहीं है। इस तरह राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), मनोरंजन कर, मदन चौहान को सिनेमा मालिकों ने अपनी समस्याओं से अवगत कराया।
सिनेमा एक्जिबीटर्स फैडरेशन के माध्यम से सिनेमा स्वामियों ने शासन से मांग की कि नये एकल सिनेमा निर्माण पर प्रथम 2 वर्ष 100 प्रतिशत, तृतीय एवं चतुर्थ वर्ष 75 प्रतिशत एवं पंचम वर्ष 50 प्रतिशत अनुदान योजना अनुमन्य करने के साथ ही बन्द सिनेमाओं को पुन: संचालित करने हेतु वर्ष 2005 में जारी पूर्व शासनादेश को विस्तारित किया जाये।

Pin It