बार-बार सर्किल रेट बढ़ाए जाने पर मुख्य सचिव नाराज

  • नोएडा, गाजियाबाद और लखनऊ के अधिकारियों से पूछी वजह
  • अवैध शराब की बिक्री रोकने में लापरवाही को लेकर आबकारी आयुक्त भवनाथ सिंह को लगाई फटकार

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। नोएडा, गाजियाबाद और लखनऊ में बार-बार सर्किल रेट बढ़ाए जाने पर मुख्य सचिव दीपक सिंघल ने नाराजगी जताई है। उन्होंने पूछा है कि आम नागरिक की सुविधा के नाम पर सर्किल रेट बढ़ाने की क्या वजह है। इस संबंध में अगले सप्ताह सभी जिलाधिकारियों की बैठक भी बुलाई गई है। इसके अलावा अवैध शराब की बिक्री को लेकर भी मुख्य सचिव ने नाराजगी जाहिर की है। अवैध शराब पर लगाम कसने के लिए उन्होंने हाईटेक तौर तरीके अपनाने को कहा है।
मुख्य सचिव ने शुक्रवार को आबकारी, स्टांप व रजिस्ट्रेशन विभाग से जुड़े अधिकारियों के काम की समीक्षा की और जरूरी निर्देश दिए। उन्होंने संबंधित विभाग के प्रमुखों से कहा कि राजस्व का लक्ष्य पाने के लिए हर महीने का लक्ष्य निर्धारित किया जाय। अवैध शराब की बिक्री रोकने के लिए उन्होंने प्रमुख सचिव आबकारी और आयुक्त के कार्यालय में कंट्रोल रूम बनाकर सीसीटीवी के जरिए लगातार निगरानी करने का निर्देश दिया है। इसके अलावा जिन ट्रकों से मिथाइल अल्कोहल सप्लाई होता है। अवैध शराब लाने वाले ट्रकों और उनके मालिकों पर सख्त कार्रवाई करने और किसी भी थाना क्षेत्र में पकड़ी जाने वाली अवैध शराब को सार्वजनिक रूप से नष्ट करने का निर्देश दिया है। उन्होंने प्रमुख सचिव आबकारी किशन सिंह अटोरिया व आबकारी आयुक्त भवनाथ सिंह से कहा कि छापेमारी के लिए उप आयुक्त से परमीशन लेने की व्यवस्था खत्म की जाए। इश बैठक में प्रमुख सचिव वित्त राहुल भटनागर, प्रमुख सचिव वाणिज्य कर बीरेश कुमार, वाणिज्य कर आयुक्त मुकेश मेश्राम, सचिव वित्त मुकेश मित्तल व मुख्य सचिव के स्टाफ आफिसर भुवनेश कुमार मौजूद रहे।

Pin It