बारिश से खिले चेहरे गर्मी से मिली राहत

बरसात में भीगते हुए स्कूल पहुंचे बच्चे
शहर के अनकों मोहल्लों में जलभराव का संकट

4पीCaptureएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में मंगलवार के दिन की शुरूआत बरसात से हुई। भयंकर उमस और गर्मी से परेशान लोगों को काफी राहत मिली। गर्मी से परेशान लोग छतों पर और सडक़ों पर बारिश का मजा लेने निकल पड़े। पढऩे वाले बच्चे भीगते हुए स्कूल पहुंचे। शहर में जगह-जगह जलभराव की स्थिति आ गई। जिन जगहों पर अधिक जलभराव हुआ, वहां के लोग बारिश में सामान लेकर इधर-उधर भागते नजर आये। एक बार फिर तेज बारिश ने जलभराव से निपटने के प्रशासनिक इंतजामों की कलई खोल दी।
जिले में पिछले एक सप्ताह से भयंकर गर्मी पड़ रही थी। सोमवार का दिन और रात काफी गर्म रहा। इस दौरान दिन का तापमान 38 डिग्री सेल्सियस और रात का तापमान 36 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था। भयंकर उमस और गर्मी के कारण लोगों का घरों में रहना मुश्किल हो गया था। कूलर और पंखे भी गर्मी से राहत नहीं दिला पा रहे थे। इस वजह से सैकड़ों लोगों ने छतों पर बिस्तर लगाकर रात काटने की कोशिश की लेकिन भयंकर गर्मी की वजह से आंखों से नींद गायब थी। किसी तरह सोते-जागते रात बीती। आखिरकार मंगलवार की सुबह 7:30 बजे तेज हवाओं और बादलों की गडग़ड़ाहट के बीच बारिश शुरू हो गई। इस कारण गर्मी के परेशान लोगों को काफी राहत मिली। बारिश की वजह से स्कूली बच्चे काफी खुश थे, उनको तेज बारिश होने पर स्कूल नहीं जाना पड़ेगा। लेकिन सुबह 8:30 बजे तक हल्की बारिश होती रही। इसलिए बच्चों को स्कूल जाना पड़ा। इसके बाद बारिश तेज होने लगी। इसमें बहुत से स्कूली बच्चे रिक्शे और आटो में भीगकर पढऩे गये। आटो चालकों ने दोनों तरफ से पर्दे गिराकर बारिश की बौछारों से बच्चों को बचाने का इंतजाम किया था लेकिन बच्चे पर्दे की ओट से झांकते और हाथ बाहर निकालकर बारिश का मजा लेते नजर आये।

हर तरफ जलभराव की स्थिति
जिले में बारिश की वजह से अनेकों मोहल्लों में जलभराव की स्थिति आ गई। खदरा, फैजुल्लागंज वार्ड एक और दो, राजेन्द्र नगर, कल्याणपुर, विकास नगर, डंडइया, कुर्सी रोड, जानकीपुरम, वसुंधरा कालोनी, निशातगंज, पूरन नगर, कश्मीरी मोहल्ला, तेलीबाग, विराम खण्ड, विराज खण्ड विशाल खण्ड, गाजीपुर, इन्दिरानगर और महानगर समेत अनेकों मोहल्लों में सडक़ों पर घुटने भर पानी भर आया। इस बारिश ने जलभराव से निपटने के प्रशासनिक इंतजामों की पोल भी खोल कर रख दी है।

खेतों में लहलहाने लगीं फसलें
एक बार फिर तेज बारिश ने किसानों के चेहरे पर मुस्कान लौटा दी है। इससे धान, मक्का, उर्द, ककड़ी, खीरा और बाजरे की खेती को काफी लाभ मिलेगा। इसकी वजह रुक-रुक कर, रिमझिम-रिमझिम और अचानक से तेज गिरने वाली बारिश की बूंदों का फसलों को पानी से सराबोर करना है। खेतों में बारिश का पानी पहुंचते ही फसलें भी लहलहाने लगीं। इसके साथ ही अच्छी फसल को लेकर किसानों की उम्मीद भी बढ़ गई। मोहनलालगंज, गोसाईंगंज, बीकेटी और माल क्षेत्र में किसान खुशी में झूमते नजर आये।

Pin It