बाबा हरदेव का अंतिम संस्कार आज अनुयायियों की भीड़ से जाम हुईं सडक़ें

Captureनई दिल्ली। कनाडा में 13 मई को एक सडक़ हादसे में जान गंवाने वाले निरंकारी बाबा हरदेव सिंह और उनके दामाद अवनीत सेतिया का आज दिल्ली के निगम बोध घाट पर अंतिम संस्कार किया जाएगा। बाबा के अंतिम संस्कार से पहले उनके अंतिम दर्शन के लिए दूर-दूर से आए लाखों की संख्या में अनुयायी दिल्ली में जमा हुए है। बाबा हरदेव सिंह के अंतिम संस्कार में शामिल होने पहुंचे निरंकारी समुदाय के लोगों की वजह से राजधानी दिल्ली की कई सडक़ों पर जाम लग गया है। आउटर रिंगरोड पर काफी लंबा जाम देखने को मिला। बाबा का शव सोमवार को कनाडा से दिल्ली लाया गया था और अंतिम दर्शन के लिए बुराड़ी स्थित ग्राउंड नंबर आठ में रखा गया था। गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी ने कल बाबा हरदेव सिंह को श्रद्धांजलि दी। 

संविदर कौर बनीं प्रमुख
निरंकारी समुदाय के प्रमुख हरदेव सिंह की सडक़ हादसे में मौत के बाद अब उनकी पत्नी सविंदर कौर को उनके उत्तराधिकारी के तौर पर चुना गया है। मंगलवार देर रात इस बात का फैसला हुआ है। संत निंरकारी मिशन की ओर से फेसबुक पर भी इसकी जानकारी दी गई है। पोस्ट में कहा गया है- ‘सतगुरु बाबा हरदेव सिंह 13 मई को निरंकार में लीन हो गए। उनके जाने से सभी भक्त दुखी हैं। बाबा हरदेव सिंह की पत्नी पूज्य माता सविंदर जी अब संत निरंकारी मिशन की धार्मिक प्रमुख होंगी। सविंदर कौर को निरंकारी मिशन के प्रमुख पद के लिए चुने जाने के बाद उन्हें सतगुरु की शक्तियों की निशानी सफेद दुपट्टा भेंट किया। इस दौरान मैनेजमेंट कमेटी के 21 सदस्य मौजूद थे। मूल रूप से यूपी के फर्रूखाबाद की रहने वाली सविंदर ने 1975 में बाबा हरदेव सिंह से शादी की थी।

Pin It