बसपा सरकार ने राज्य को कर्ज के तले दबा दिया: अखिलेश यादव

  • छात्र व युवजन सभा की संयुक्त बैठक में मुख्यमंत्री ने बीजेपी, बीएसपी और कांग्रेस पर साधा निशाना

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

Captureलखनऊ । मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भाजपा को झूठा वादा करने और कांग्रेस को सत्ता का दुरुपयोग करने वाला दल बताया है। उन्होंने कहा कि बसपा सरकार ने राज्य को कर्ज के तले दबा दिया था, भ्रष्टाचार चरम पर था, जिस पर अंकुश लगाकर समाजवादियों ने विकास किया है। इसलिए पार्टी के युवा कार्यकर्ताओं को इन दलों की सच्चाई सबके सामने लानी होगी।
सपा मुख्यालय में छात्रसभा व युवजन सभा की संयुक्त बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस दल ने जनता से झूठे वादे किए और जिन दलों ने सत्ता का दुरुपयोग किया, वही अब प्रदेश सरकार का विरोध कर रहे हैं। कठिन समय में नौजवानों को सियासी मूल्यों की रक्षा और समाजवादी विचारधारा को बढ़ाने का जिम्मा उठाना होगा। उन्होंने नीतीश सरकार की शराब बंदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि दस साल तक बिहार के नागरिकों को शराब पिलाने वाले अब शराब बंदी का अभियान चला रहे हैं। विकास की बात उनकी जुबान पर नहीं आती। इस दौरान किरनमय नंदा ने कहा कि सभी फ्रंटल संगठन प्रत्येक बूथ पर दस-दस सदस्यों की कमेटी बनाने में जुट जाएं। यह कार्य होते ही सिर्फ बूथ कमेटियों की सदस्यों की संख्या साठ लाख के ऊपर हो जाएगी, जिनका एक सम्मेलन लखनऊ में कराया जाएगा। युवा कार्यकर्ताओं ने साढ़े चार साल के विकास पर आधारित एक वीडियो मुख्यमंत्री को दिखाया और दोबारा सरकार बनाने का संकल्प लिया। इस दौरान युवजन सभा में हिस्सा लेने पहुंचे युवा सपाइयों को सुरक्षा कर्मियों ने पार्टी कार्यालय में प्रवेश करने से रोका तो वे नारेबाजी पर आमादा हो गए। उन्होंने नारेबाजी की और आरोप लगाया कि सुरक्षाकर्मियों ने उनके हांथ से कन्नौज की सांसद डिम्पल यादव का पोस्टर छीनकर फाड़ दिया। जब मुख्यमंत्री कार्यालय पहुंचे तो उन्होंने नाराज कार्यकर्ताओं को अंदर बुलाया और समझा बुझाकर मामला शांत कराया। इस बैठक में सपा उपाध्यक्ष किरनमय नंदा, प्रदेश महासचिव अरविंद सिंह गोप, सचिव एसआरएस यादव, मंत्री राजेन्द्र चौधरी, युवजन सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष विकास यादव, युवजन सभा के मनीष सिंह, आनंद भदौरिया, सुनील यादव साजन, राजपाल कश्यप, नफीस अहमद आदि मौजूद रहे।

Pin It