बनी सड़क दोबारा बनाकर नगर निगम को पहुंचाया जा रहा लाखों का नुकसान

  • नगर आयुक्त ने किया मुख्य अभियंता को तलब

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। एक तरफ आर्थिक संकट से जूझ रहे नगर निगम को कर्मचारियों के वेतन के लिए इधर-उधर से पैसे जुटाने पड़ रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ एक माह में दोबारा सड़क बनाकर नगर निगम को लाखों रुपये की छति पहुंचाई जा रही है।
मामला ठाकुरंगज का है, जहां मंसूर नगर तिराहे से पुल गुलाम हुसैन तक सड़क को एक माह में दोबारा बनवाने का काम शुरू कर दिया गया है। मामले की जानकारी मिलते ही नगर आयुक्त उदय राज सिंह ने मुख्य अभियंता से पत्रावलियां तलब की है साथ ही वित्तीय हानि होने पर कड़ी कार्रवाई की बात कही है। खास बात यह है कि इस काम को लेकर किसी टेंडर के न होने की बात भी सामने आई है। यहां डामर रोड का निर्माण जून माह में कराया गया था। करीब 104 मीटर रोड पर नगर निगम प्रशासन ने 43,96,055 लाख का टेंडर निकाला था। शासनादेश के अनुसार 3.75 मी. से अधिक चौड़ी रोड पर डामर रोड ही बन सकती है। यह रोड करीब छह मीटर के आसपास थी, लेकिन रोड की खराब गुणवत्ता की शिकायत शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सैय्यद वसीम रिजवी ने की थी। मामले की जांच हुई। सड़क की लंबाई, चौड़ाई और मोटाई नापने के साथ ही गुणवत्ता का परीक्षण भी हुआ, निरीक्षण आख्या में सब कुछ दुरुस्त पाया गया। रोड बने अभी एक माह भी नहीं हुआ था कि पुल गुलाम हुसैन से पुलिस चौकी कश्मीरी मुहल्ले तक इंटरलॉकिंग टाइल्स का काम डामर की सड़क खुदवाकर शुरू करा दिया गया है। अधिकारियों के मुताबिक यहां पानी भरने की शिकायत है। लेकिन लोगों का कहना है कि पिछले कुछ वर्षों में पानी भरा ही नहीं है। बल्कि पास में बने पुल गुलाम हुसैन नाला होने के कारण जलभराव जैसी कोई स्थिति यहां नहीं है। अब सवाल उठता है कि ऐसी क्या जल्दबाजी थी कि जिस नगर निगम के पास वेतन देने के लिए पैसे जुटाने पड़ रहे हैं उसे लाखों रुपये दबाव में आकर खर्च करने पड़ रहे हैं। फिलहाल नगर निगम ने ठेकेदार का भुगतान रोक लिया है। जिस ठेकेदार ने डामर रोड बनवाई थी, उससे ही इंटरलॉकिंग टाइल्स का काम करवाया जा रहा है। करीब 70 मीटर इंटर लाकिंग टाइल्स बिछवाई जा रही है, जो शासनादेश की अवहेलना है। मुख्य अभियंता को निर्देश दिए गए हैं कि मामले की जांच करके पत्रावलियां प्रस्तुत करें। इसके अलावा अगर वित्तीय हानि हुई है, तो संबंधित अभियंताओं के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Pin It