बदमाशों की गोली से घायल सिपाही की मौत

बदमाशों की गोली से घायल सिपाही की मौत

रास्ते में अपराधियों ने मार दी थी गोली

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
बागपत। बदमाशों की गोली लगने से घायल सिपाही मनीष की आज मेरठ के एक निजी हॉस्पिटल में उपचार के दौरान मौत हो गई। वहीं पुलिस घटना के 17 घंटे बाद भी बदमाशों को गिरफ्तार करना तो दूर उनका सुराग भी नहीं लगा पाई है।
मेरठ के जानी थाना क्षेत्र के ग्राम डालूहेड़ा निवासी 35 वर्षीय मनीष पुत्र कृष्णपाल, दिल्ली ट्रैफिक पुलिस में कांस्टेबल के पद पर तैनात थे। वह रविवार शाम करीब चार बजे दिल्ली से बाइक पर सवार होकर घर लौट रहे थे। ग्राम रोशनगढ़ के गेट के निकट पहुंचने पर बुलेट व अपाचे बाइक सवार चार बदमाशों ने मारपीट करते हुए कांस्टेबल मनीष को पिस्टल से गोली मार दी थी। वह गंभीर रूप से घायल हो गए थे। गोली की आवाज सुनकर खेतों में काम कर रहे किसान एकत्र हो गए। उनके घटनास्थल पर पहुंचने से पहले ही बदमाश फरार हो गए थे। ई-रिक्शा से घायल सिपाही को पिलाना सीएचसी ले जाया गया था। डॉक्टरों ने हालत गंभीर देखते हुए प्राथमिक उपचार कर उनको हायर हॉस्पिटल के लिए रेफर कर दिया था। स्वजनों ने घायल सिपाही को मेरठ के केएमसी हॉस्पिटल में भर्ती कराया था। सिपाही के चाचा अभयराम की तहरीर पर पुलिस ने चार अज्ञात बदमाशों के खिलाफ जानलेवा हमले की धारा में मुकदमा दर्ज किया था। वहीं सीओ ओमपाल सिंह का कहना है कि घायल सिपाही की हॉस्पिटल में ऑपरेशन के दौरान मौत हुई है।

नौकरी के नाम पर ठगी गई युवती ने की आत्महत्या

मौके से मिला सुसाइड नोट, प्रापर्टी डीलर ने ठगे थे 90 लाख
आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज, जांच शुरू

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। शहर में पानी सप्लाई का ठेका व रिश्तेदारों को नौकरी दिलाने के नाम पर साथी प्रापर्टी डीलर की ठगी से परेशान एक युवती ने आत्महत्या कर ली। गाजीपुर पुलिस ने सुसाइड नोट और पिता की तहरीर पर आरोपित प्रापर्टी डीलर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
इंदिरानगर निवासी मिठाई लाल पाल की बेटी ममता (32) का शव सोमवार सुबह 11 बजे के करीब घर में फांसी के फंदे पर लटकता मिला। पिता मिठाई लाल के मुताबिक ममता की सुसाइड का कारण नीलेश गुप्ता व कृष्णा यादव हैं। इनका मुंशीपुलिया के पास एक प्रापर्टी डीलिंग का आफिस था। जहां ममता ने 2015-2016 में काम किया। इसी बीच कई विभागों में सफाई कर्मचारी की भर्ती निकली। नीलेश व कृष्णा की बातों में आकर ममता ने कई रिश्तेदारों से लेकर नौकरी लगवाने के लिए 25 लाख रुपये इनको दे दिए। फिर इन लोगों ने शहर में पानी सप्लाई का ठेका लेने के लिए पानी का प्लांट लगाने की बात कही। जिसमें ममता, उसके भाई देवेंद्र व बहनोई दीपचंद्र ने भी 65 लाख रुपये लगाया। पानी सप्लाई का ठेका और रिश्तेदारों को नौकरी न मिलने पर ममता ने तकाजा किया। इस पर दोनों जान से मारने की धमकी देने लगे। सोमवार को बेटी ने सुसाइड नोट में लेनदेन का जिक्र करते हुए आत्महत्या कर ली। इंस्पेक्टर गाजीपुर ब्रजेश कुमार सिंह के मुताबिक पिता की तहरीर पर आरोपित कृष्णा व नीलेश के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

बाइक सवारों को वाहन ने मारी टक्कर, एक की मौत

वाहन समेत चालक फरार, पुलिस कर रही मामले की जांच

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
अलीगढ़। इगलास कोतवाली क्षेत्र के गांव भौंरा गौरवा निवासी चाचा भतीजे की बाइक में गांव हस्तपुर के समीप अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी। हादसे में घायल भतीजे की अस्पताल में मौत हो गई। टक्कर मारने के बाद वाहन चालक मौके से फरार हो गया।
गांव भौंरा गौरव निवासी जितेंद्र सिंह (26) पुत्र रामवीर सिंह नोएडा की एक कंपनी में काम करता है। आज ड्यूटी पर जाने के लिए बस पकडऩी थी। सुबह सात बजे चाचा करन सिंह पुत्र रक्षपाल सिंह उसे बाइक से गांव हस्तपुर छोडऩे जा रहे थे। गांव हस्तपुर के निकट अलीगढ़-मथुरा रोड पर सामने से आ रहे अज्ञात वाहन ने बाइक में टक्कर मार दी। हादसे में जितेंद्र गंभीर रूप से घायल हो गया, उसे उपचार के लिए जिला चिकित्सालय ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना के संबंध में मृतक के चाचा रमेश चंद पुत्र चरन सिंह निवासी भौंरा गौरवा ने पुलिस को अज्ञात वाहन चालक के विरुद्ध तहरीर दी है। कोतवाल पीके मान ने बताया कि घटना की रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। बाइक को कब्जे में लिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *