फोन कॉल पर होगी पत्रकारों की समस्या की सुनवाई

  • जल्द ही जारी किया जाएगा टोल फ्री नंबर
  • 15 दिन के भीतर होगा समस्याओं का निस्तारण, मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को दिये निर्देश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। पत्रकारों पर लगातार हो रहे हमलों को देखते हुए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के निर्देश पर सूचना एवं जनसंपर्क विभाग जल्द ही एक कॉल सेंटर स्थापित करेगा। जिसके माध्यम से पत्रकारों की समस्याओं का निस्तारण किया जायेगा। कॉल सेंटर में टोल फ्री नम्बर पर पत्रकारों की समस्यायें सुनी जायेंगी और 15 दिन के भीतर इसका निस्तारण कर दिया जाएगा।

यूपी में पत्रकारों पर हो रहे हमलों को मुख्यमंत्री ने गंभीरता से लिया है। इसी के तहत सूचना विभाग में कॉल सेंटर स्थापित करने का निर्णय लिया गया है। सूचना विभाग भी सक्रिय हो गया है। कॉल सेंटर स्थापित करने की पूरी तैयारी हो गई है। जल्द ही मुख्यमंत्री की मंशा को अमलीजामा पहना दिया जाएगा। शीघ्र कॉल सेंटर स्थापित कर पत्रकारों के लिए टोल फ्री नं. जारी कर दिया जाएगा। कॉल सेंटर स्थापित करने के लिए यूपी डेस्को व यूपी इलेक्ट्रानिक्स का सहयोग लेकर सूचना विभाग प्लान तैयार कर रहा है। कॉल सेंटर स्थापित होने पर जिले और ग्रामीण अंचल के पत्रकार भी सीधे अपनी समस्या मुख्यमंत्री के अधीन संचालित सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के टोल फ्री नं. के माध्यम से उन तक पहुंचा सकेंगे। सूचना विभाग के अधिकारियों की मानें तो टोल फ्री नं. पर जब पत्रकार अपनी समस्या दर्ज कराएगा तो उसे 15 दिन का समय देते हुए एक रजिस्टर्ड नंबर दिया जाएगा, जिस पर उसकी शिकायत दर्ज रहेगी और उस रजिस्टर नंबर के माध्यम से वह अपनी शिकायत की स्थिति को जान सकेगा।

सूचना निदेशक आशुतोष निरंजन के मुताबिक जल्द ही टोल फ्री नंबर जारी किया जाएगा। इस सुविधा के माध्यम से पत्रकार अपनी प्रत्येक समस्या हम तक आसानी से पहुंचा सकेगा। चाहे वह ग्रामीण अंचल का पत्रकार हो या राज्य मुख्यालय में बैठा मान्यता प्राप्त पत्रकार। यह सुविधा सभी के लिए सामान्य है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद ही प्रमुख सचिव सूचना के मार्ग दर्शन में इस तरह की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि कई बार यह बात सामने आई है कि दूर जनपदों में पत्रकार की समस्या कोई सुनने वाला कोई नहीं होता। इस व्यवस्था के बाद वह अपनी समस्या हम तक पहुंचा सकेंगे। शिकायत आने पर शिकायतकर्ता पत्रकार को 15 दिन का समय दिया जाएगा। हमारी पूरी कोशिश होगी कि 15 दिन के अंदर समस्या का निस्तारण कर दिया जाए।

Pin It