फिर सामने आई पुलिस की दबंगई कवरेज करने गये पत्रकारों को पीटा

भाजपाइयों-मीडियाकर्मियों पर पुलिस का लाठीचार्ज
मुख्यमंत्री ने लिया मामले का संज्ञान, दिये कड़ी कार्रवाई के निर्देश

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
आगरा। उत्तर प्रदेश में पुलिस की गुंडागर्दी बंद होने का नाम नहीं ले रही है। पुलिस वाले इतने दबंग हो गए है कि वह मीडियाकर्मियों को भी निशाना बनाने से नहीं चूक रहे हैं। कल आगरा में पुलिसकर्मियों ने जिस तरीके से मीडियाकर्मियों पर लाठियां बरसायी उसकी सभी ने भत्र्सना की। इस घटना का संज्ञान सीएम अखिलेश यादव ने भी लिया और कहा कि दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
आगरा में भाजपाई कल कानून व्यवस्था के विरोध में धरना दे रहे थे। पुलिस से विवाद बढ़ा तो पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। जब व्यापारियों पर पुलिस की नहीं चली तो पुलिस ने मीडियाकर्मियों पर ही गुस्सा निकाला। पुलिस ने मीडिया कर्मियों पर लाठियां भांजते हुए कई फोटो जर्नलिस्ट के कैमरे तक तोड़ डाले। इस दौरान कई मीडियाकर्मी बुरी तरह घायल हो गए। मीडियाकर्मियों पर हुए लाठीचार्ज की खबरें तुरंत मीडिया और सोशल साइट पर दौडऩे लगी। इस मामले को संज्ञान में लेते हुये सीएम अखिलेश यादव ने दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का आदेश दिया है। एसएसपी आगरा प्रीतिंदर सिंह को जल्द से जल्द मामले की जांच कर अपनी रिपोर्ट देने को कहा है। आगरा में रविवार रात चांदी व्यापारी धनकुमार उर्फ धन्नू जैन पर अज्ञात बदमाशों ने जानलेवा हमला किया था। सोमवार को केंद्रीय मंत्री रामशंकर कठेरिया के नेतृत्व में स्थानीय विधायक जगन प्रसाद गर्ग और योगेंद्र उपाध्याय के साथ सैकड़ों भाजपाई पुलिस लाइन पहुंचे थे। भाजपाइयों ने कानून व्यवस्था के मुद्दे पर आईजी ऑफिस का घेराव किया। इस दौरान पुलिस के आला अधिकारी को भाजपा की महिला कार्यकर्ताओं ने चूडिय़ां दी और विधायक योगेंद्र उपाध्याय ने पुलिस की रिकार्डिंग का विरोध किया। भारी भीड़ को हटाने के दौरान पत्रकारों की मौजूदगी के कारण पुलिस भाजपाइयों पर ढंग से लाठीचार्ज नहीं कर पाई, जिसका गुस्सा उतारने के लिए उन्होंने पत्रकारों को अपना निशाना बनाया। कवरेज कर रहे पत्रकारों को बुरी तरह से लाठियों से पीटा गया। यही नहीं तस्वीर उतार चुके प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के फोटो जर्नलिस्ट के कैमरों को भी पुलिस ने तोड़ दिया।

Pin It