फास्ट ट्रैक कोर्ट का हो गठन : रालोद

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राष्ट्रीय लोकदल ने चुनाव के दौरान आचार संहिता उल्लंघन के मामलों की सुनवाई के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट का गठन किए जाने की मांग की है। रालोद प्रदेश अध्यक्ष डॉ. मसूद अहमद ने निर्वाचन आयोग से यह मांग करते हुए कहा है कि इससे चुनाव संबन्धी याचिकाओं का त्वरित निस्तारण हो सकेगा।
रालोद अध्यक्ष डॉ. मसूद अहमद ने निर्वाचन आयोग से मांग करते हुये कहा है कि आचार संहिता के उल्लंघन के मामलों की सुनवाई के लिए प्रत्येक जनपद में फास्ट ट्रैक कोर्ट का गठन किया जाय,जिससे इस सन्दर्भ में की गई शिकायतों के साथ साथ चुनाव सम्बन्धी याचिकाओं पर त्वरित निर्णय हो सके। डॉ. अहमद ने कहा कि किसी भी दल का प्रत्याशी क्यों न हो उसे सजा मिलनी चाहिए। आचार संहिता उल्लंघन के साथ-साथ अन्य अनियमितताओं को लेकर दायर की गई याचिकाओं का निस्तारण सालों तक नहीं हो पाता है। कभी-कभी तो विधायक अथवा सांसद का कार्यकाल पूरा हो जाता है, परन्तु उसके खिलाफ दायर की गई याचिका लंबित रहती है, जो कि न्यायहित में निंदनीय है। रालोद प्रदेश अध्यक्ष ने निर्वाचन आयोग द्वारा नियुक्त किए गए चुनाव पर्यवेक्षकों की भूमिका को भी महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि सही और निष्पक्ष रिपोर्ट देना चुनाव पर्यवेक्षकों का कर्तव्य है। यदि किसी अनावश्यक दबाव के चलते उसकी कार्यशैली प्रभावित होती है तो जनता को सही प्रतिनिधि अथवा सेवक नहीं मिल सकेगा।

Pin It