फतेहपुर सांप्रदायिक हिंसा के मामले में 27 लोग गिरफ्तार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। फतेहपुर जिले के जहानाबाद में भडक़ी हिंसा के बाद हालात नियंत्रण में हैं लेकिन स्थित अभी तनावपूर्ण बनी हुई है। मकर संक्रांति के जुलूस पर पथराव के बाद यहां हिंसा भडक़ गई थी, जिसके बाद यहां भारी मात्रा में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है। इस मामले में पुलिस ने अब तक इस मामले में 27 लोगों को गिरफ्तार गिरफ्तार किया है।
बताया जा रहा है कि हिंदू समुदाय के लोग मकर संक्रांति के जुलूस में राम मंदिर का मॉडल लेकर जा रहे थे। इसी दौरान दूसरे समुदाय के लोगों से इनका विवाद हो गया। दोनों तरफ से जमकर पत्थरबाजी हुई और छह दुकानें और तीन गाडिय़ां जला दी गईं। इस हिंसा में एक पुलिसवाले समेत करीब 10 लोग जख्मी हुए।
हिंसा वाले इलाके में धारा-144 लागू कर दी गयी है और स्थिति पर कड़ी नजर रखी जा रही है। एहतियातन आस पड़ोस के जिलों की पुलिस भी तैनात की गयी है। घटना के वक्त वीएचपी नेता प्रवीण तोगडिय़ा एक अन्य कार्यक्रम में जहानाबाद में ही मौजूद थे और भाषण दे रहे थे।
हिंसा की खबर मिलने पर उन्होंने अपना भाषण खत्म कर दिया। प्रवीण तोगडिय़ा ने कानपुर में कहा कि फतेहपुर के जहानाबाद में जो भी बवाल हुआ है वह उनके भाषण के पहले हुआ। तोगडिय़ा के मुताबिक प्रशासन को इसके लिए पहले से ही इंतजाम करके रखना चाहिए था। उन्होंने कहा कि प्रशासन हिंसा की जिम्मेदारी उन पर लादने की कोशिश न करे।

Pin It