प्रियंका की प्रस्तावित रैली से पार्टी कार्यकर्ताओं में दिखा जोश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की तरफ से प्रियंका गांधी को मैदान में उतारने की खबरों के बीच लगभग तय हो गया है कि इस चुनाव में इलाहाबाद का स्वराज भवन ही कांग्रेस का प्रचार केन्द्र होगा। इस बीच बड़ी है कि प्रचार की कमान प्रियंका गांधी संभालेगी और उनकी अगुवाई में प्रदेशभर में 180 रैलियां होंगी। बताया जा रहा है कि चुनाव के बाद स्वराज भवन स्थित उस कक्ष को भी आमजन के लिए खोल दिया जाएगा,जिसमें पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का जन्म हुआ था।
इंदिरा गांधी की याद में आयोजित होने वाले शताब्दी समारोह में कांग्रेस इलाहाबाद में भव्य कार्यक्रम आयोजित करने जा रही है। इस कार्यक्रम में प्रियंका गांधी को चुनाव प्रचार की कमान सौंपी जा सकती है। इस खबर से प्रियंका को यूपी में सीएम उम्मीदवार बनाने की मांग करने वालों का उत्साह दो गुना हो गया है। इतना ही नहीं पार्टी से जुड़े कार्यकर्ताओं में काफी जोश दिखने लगा है। गौरतलह है कि प्रियंका पहली बार 1991 में स्वराज भवन आईं थी। आजादी के पहले तक स्वराज भवन कांग्रेस का मुख्यालय था। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का जन्म भी यहीं पर हुआ था। कांग्रेस इंदिरा गांधी की 100वीं जयंती को इस बार शताब्दी वर्ष के रूप में मना रही है। आयोजन का मुख्य केन्द्र उनकी जन्मस्थली स्वराज भवन ही होगा। पार्टी अगले विधानसभा चुनाव में नेहरू.इंदिरा की विरासत को भुनाना चाहती है, यही कारण है कि कांग्रेस 2017 का चुनाव स्वराज भवन को केन्द्र में रखकर लडऩा चाहती है।
बताया जाता है कि प्रियंका ने जब 2002 में दूसरी बार स्वराज भवन में कदम रखा तो उनका जादू इलाहाबाद के लोगों के सिर चढ़ कर बोल रहा था।

Pin It