प्रवेश पत्र भी जारी किया और परीक्षा देने से भी रोका

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय में परीक्षा के दौरान एमए द्वितीय के छात्रों को गलत तरीके से परीक्षा देते हुये विवि प्रशासन ने परीक्षा कक्ष से उठा दिया। इस प्रकार छात्र को परीक्षा के बीच से उठाने पर छात्रों ने परीक्षा नियंत्रक कार्यालय के बाहर जमकर बवाल किया। इस पूरे मामले में छात्रों ने कुलपति से शिकायत की।

2011 बैच की छात्रा अराधना मौर्या को इकोनॉमिक्स द्वितीय वर्ष बैक पेपर की परीक्षा देते समय उठा दिया गया जिससे गुस्साए छात्रों ने इस बात का विरोध जताते हुए कुलपति से शिकायत की। छात्रों का कहना था कि यदि यह परीक्षा देने के लिए मान्य नही है तो यह बात पहले बतानी चाहिए थी। पेपर शुरू होने के एक घण्टे बाद फ्लाइंग स्कॉट ने आकर उसे परीक्षा देने से रोका और परीक्षा के दौरान उसे क्लास के बाहर निकाल दिया। यह भी सही मान लेते हैं लेकिन एक तरफ आप उसी छात्रा का प्रवेश पत्र जारी कर रहे हैं और दूसरी तरफ उसके साथ ऐसा सुलूक किया जाता है। सवाल यह है कि क्या प्रवेश पत्र जारी करते समय उन्हें नहीं पता था कि छात्रा परीक्षा देने के लिए मान्य नहीं है। कुलपति और परीक्षा नियंत्रक ने इस पूरे मामले पर विचार करने के पश्चात जल्द ही कोई फैसला लेने की बात पर छात्रों के आक्रोश को शांत किया था। इतना सब हो जाने के बावजूद विश्वविद्यालय प्रशासन ने इस संबंध में अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की।

Pin It